Signs of mental fatigue: मानसिक थकान सेहत के लिए क्यों हानिकारक होती है #loveromance
September 26th, 2020 | Post by :- | 194 Views

Signs of mental fatigue: क्या आप हर समय मानसिक तनाव और अशांति महसूस करते हैं? क्या आपको तनाव भुलाने के लिए बार-बार सो जाना अच्छा लगता है? क्या आपको आसानी से खांसी-जुकाम जैसी बीमारियां लग जाती है? क्या आपको बार-बार सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या होती है? इन सभी सवालों का जवाब यदि हां है तो समझ जाएं कि आप शारीरिक कमजोरी नहीं बल्कि मानसिक थकान का शिकार हैं जो आपको लगातार कमजोर बना रही है। आइए जानते हैं कि मानसिक थकान के क्या संकेत हो सकते हैं।

Signs of mental fatigue:  मानसिक थकान के संकेत

  • मानसिक थकान क्या होती है
  • क्यों होती है मानसिक थकान
  • मानसिक थकान के संकेत
  •  मानसिक थकान को कम करने के लिए क्या करें
 1.मानसिक थकान क्या होती है-
मानसिक थकान का मतलब होता है कि दिमाग का बहुत सारे कामों में एक साथ उलझा हुआ होना। मानसिक थकान आपको शारीरिक और मानसिक तौर पर इतना तनाव और थकान देती है कि आप खुद को बीमार महसूस करने लगते हैं।

2. क्यों होती है मानसिक थकान-

शरीर और दिमाग का एक साथ बहुत ज्यादा काम करने से मानसिक थकान पैदा हो जाती है। मल्टी टास्किंग होने से भी दिमाग को एक साथ कई काम करने पड़ते हैं ऐसे में आप मानसिक थकान का शिकार हो सकते हैं।

3. मानसिक थकान के संकेत-

  • भूख कम लगना या बहुत ज्यादा लगना
  • इंसोम्निया
  • एंग्जायटी
  • फोकस ना कर पाना
  • बात-बात पर भूल जाना
  • सेक्स ड्राइव कम होना
  • त्वचा का रुखा हो जाना
  • मसल्स में ऐंठन होना
  • असामान्य रुप से वजन बढ़ना और कम हो जाना।
    इन सभी संकेतों से पता चलता है कि आप मानसिक थकान का शिकार हैं। मानसिक थकान आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देती है साथ ही आपकी क्रियाशीलता को भी बुरी तरह प्रभावित करती हैं।

4. मानसिक थकान को कम करने के लिए क्या करें-

  • गहरी सांस लें
  • एक साथ बहुत सारे काम करना बंद करें
  • अपनी पसंद का खाना खाएं
  • एक्सरसाइज करें
  • पर्याप्त नींद लें।