क्या आपके पार्टनर हर समस्या का जिम्मेदार आपको ठहराते हैं? हमेशा आप पर दोष लगाने वाले पार्टनर से ऐसे करें डील #loveromance
October 1st, 2020 | Post by :- | 141 Views

कुछ लोगों की आदत होती है कि वो हर गड़बड़ी और हर गलती का जिम्मेदार दूसरों को बताते हैं। जब आप ऐसे पार्टनर के साथ रिलेशनशिप में होते हैं या आपकी शादी हो जाती है, तो आपके लिए मुसीबतें बढ़ जाती हैं। रोजमर्रा के जीवन में छोटी-बड़ी गलतियां हर इंसान करता है। दरअसल गलतियों से ही इंसान सीखता है और अपने जीवन को बेहतर बनाता है। लेकिन हमेशा एक ही शख्स की गलती हो, ऐसा जरूरी नहीं है। अगर आपके पार्टनर जीवन में आने वाली हर गड़बड़ी/समस्या/चुनौती के लिए आपको जिम्मेदार बताते हैं, तो ये बहुत गलत बात है। इस तरह के रिलेशनशिप में लंबे समय में आपको फ्रस्टेशन और घुटन हो सकती है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं ऐसे पार्टनर और ऐसे रिश्ते से डील करने के कुछ प्रैक्टिकल टिप्स।

पार्टनर की बात सुन लें, तब अपनी बात कहें

ऐसा देखा जाता है कि जो लोग दूसरों पर हमेशा दोष लगाते रहते हैं, उन्हें गुस्सा भी बहुत ज्यादा आता है। इसलिए अगर आपके पार्टनर किसी बात की गलती बताते हुए आप पर गुस्सा कर रहे हैं, तो उनकी बातों के बीच में न बोलें। इससे पार्टनर का गुस्सा बढ़ सकता है। हम आपको यह सलाह नहीं दे रहे हैं कि पार्टनर की गलत बातों को आप सहते रहें, बल्कि हमारा कहने का मतलब सिर्फ यह है कि कई बार गुस्से में इंसान को सही चीज भी गलत लगती है, इसलिए आप बात जरूर करें, लेकिन गुस्सा शांत हो जाने के बाद।

पार्टनर से साफ-साफ बात करें

आपके पार्टनर अगर आपको ही हमेशा हर बात का दोषी बताते हैं, तो आपको एक बार उनसे खुलकर साफ-साफ बात करनी चाहिए। बात करने के लिए सही समय और सही जगह आपको चुननी है। समय ऐसा हो, जब पार्टनर का मूड हल्का हो और जगह ऐसी हो, जहां आप पर ध्यान देने वाले लोग न हों। अब आप अपने पार्टनर से पूछ सकते हैं कि उन्हें हमेशा आपकी गलती क्यों दिखाई देती है। कई बार ऐसे लोग अंदर ही अंदर किसी मेंटल स्ट्रेस या डिप्रेशन से गुजर होते हैं, इसलिए बात करने से आपको ज्यादा बेहतर समझ आएगा कि वो ऐसा क्यों करते हैं।

आप अपना पक्ष रखें

अगर समस्या कोई बड़ी है, जिसमें परिस्थितिवश आपसे गलती हुई है, तो आप अपना पक्ष जरूर रखें। कई बार कुछ गलतियां ऐसी होती हैं, जिन्हें कंट्रोल करना हमारे वश में नहीं होता है। इस तरह की स्थिति को अपने पार्टनर के सामने स्पष्ट करें और पूछें कि उसी परिस्थिति में वो क्या करते। इस तरह की बातचीत से ज्यादातर समस्याओं का हल निकल जाता है। इस तरह की बातचीत के बाद पार्टनर्स भले ही अपनी गलती न स्वीकार करें, लेकिन कम से काम आपको दोषमुक्त मान लेते हैं।

समस्या की जड़ तक पहुंचने की कोशिश करें

कई बार संभव है कि जिस समस्या के लिए आपको दोषी ठहराया जा रहा है, उसकी जड़ कहीं और हो। इसलिए अगर आप दोषी नहीं हैं और गलती आपकी नहीं है, तो आप उस समस्या की जड़ तक पहुंचने का प्रयास करें। संभव है कि ऐसा करने से आप गड़बड़ी या समस्या के मूल कारण का पता लगा पाएं, जिससे आपके पार्टनर की नाराजगी भी खत्म हो जाए और भरोसा भी बढ़ जाए। कुल मिलाकर आपको क्लियर करना चाहिए कि आपने जो किया उसके पीछे क्या परिस्थितियां थीं।

अपनी सीमा तय करें, बात बढ़े तो जगह छोड़ दें

जो लोग दूसरों पर बहुत ज्यादा दोष लगाने के आदी होते हैं, वो समय और परिस्थिति भी नहीं देखते हैं और कहीं पर भी चिल्लाने या समझाने लगते हैं। इस तरह की स्थिति में अगर आप पर लगातार दोष लगाया जा रहा है और आप लगातार असहज महसूस कर रहे हैं, तो आपको तुरंत उस जगह को छोड़ देना चाहिए, जिससे कि बात वहीं पर खत्म हो जाए। अगर आप किसी सार्वजनिक स्थान पर हैं, जहां दूसरे लोगों की आप पर नजर है, तब आपको एक बार धीरे से अपने पार्टनर को समझाना चाहिए कि वो अकेले में आपसे उक्त विषय में बात करें।