हर मर्द अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड से छिपाता है ये 5 सच्ची बातें! पता चलने पर 90 % महिलाएं तोड़ देती हैं रिश्ता
August 18th, 2020 | Post by :- | 208 Views

एक रिश्ते में दो व्यक्तियों के बीच बहुत सी चीजें होती है फिर चाहे वे प्यार हो या टकरार। बहुत कुछ दोनों के बीच प्यार से तय होता है, लेकिन बहुत सी चीजें इस बात पर निर्भर करती हैं कि स्त्री और पुरुष दोनों के बीच आपस में बातचीत किस तरह की होती है। रिश्ते में जहां महिलाओं को उनकी असहमति और भावनाओं के बारे में अधिक स्पष्ट और मुखर माना जाता है, वहीं पुरुष उन चीजों को ज्यादातर दबाने की कोशिश करते हैं जिससे उन दोनों के बीच झगड़ा हो सकता है। हालांकि कभी-कभी, वे अपने अंदर चल रही उथल-पुथल को अपने पार्टनर के साथ शेयर करने की आवश्यकता जरूर महसूस करते हैं, लेकिन अपने अंदर पनपी असुरक्षा की भावना के कारण वे ऐसा करने से पीछे हट जाते हैं क्योंकि ऐसा करने से उनका मर्दाना रूप धुंधला जाता है। दरअसल समाज में इसे ऐसे ही परिभाषित किया गया है, जिसे हर पुरुष को पूरा करना होता है। अगर आप सोच रहे हैं कि ये क्या विडंबना है तो इस लेख में हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें हर पुरुष अपने पार्टनर से छिपाता है। तो आइए जानते हैं कि ऐसी कौन सी बातें हैं, जो हर पुरुष अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड से छिपाता है।

अन्य महिलाओं को ज्यादा आकर्षक पाते हैं पुरुष

ये एक सबसे बड़ा और बुनियादी सच है कि एक पुरुष, जो अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड से से छिपाता है कि वे दूसरी महिलाओं के प्रति आकर्षित हो रहा है। यह बात किसी भी महिला को जानने में बहुत ज्यादा परेशानी हो सकती है, लेकिन किसी की भी सुंदरता और उसकी मौजूगी की प्रशंसा करना स्वाभाविक है। लेकिन यह एक ऐसी चीज है जिसे एक आदमी हमेशा अपने साथी से गुप्त रखता है। ऐसा करना किसी भी पुरुष के लिए अपने संबंधों में किसी भी प्रकार की गलतफहमी या विवाद से बचने के लिए उसके प्रयास के रूप में देखा जा सकता है।

एक वक्त पर पार्टनर को बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा पाना

कभी-कभी, जब आप अपने पार्टनर से बहुत ज्यादा प्यार करते हैं तब भी आपको कभी न कभी ऐसा लगेगा कि आपका साथी आपसे चिड़चिड़ा हो रहा है। ऐसा होने पर महिलाएं जोर-शोर से इस बात को कह सकती हैं, जबकि  एक परुष इसे जाने दे वाली अवस्था समझता है और अपने पार्टनर को खुश करने के लिए अन्य संभावनाओं का प्रयास और सहारा लेता है। लेकिन यह हमेशा नहीं होता है बल्कि एक अपवाद हैं।

अपनी वित्तीय अक्षमता

समाज की ऐसी धारणा है और माना जाता है कि पुरुष घर का मुखिया होता है। इसलिए उसे मेन ऑफ द हाउस कहा जाता है। चूंकि समाज में पुरुष को ये भूमिका दी गई है इसके कारण, वे वित्तीय असुरक्षा और काम की अक्षमता के दबाव को महसूस करने की सबसे अधिक संभावना रखते हैं। एक बार जब इनमें असुरक्षाओं की भावना पनप जाती है तो वे इसे अपने  पार्टनर से छिपाने के लिए झूठ का सहारा लेते हैं क्योंकि वे अपनी कमजोरी को प्रकट नहीं करना चाहते हैं।

अपनी यौन क्षमता में कमी

यौन संबंधों में अनुभव की कमी या किसी भी तरह की शारीरिक अंतरंगता वास्तव में एक आदमी के गौरव को चुनौती दे सकती है। ऐसा कहा जाता है कि ये चीजें पुरुष वास्तव में अपने पार्टनर से छिपाते हैं, भले ही यह साफ-साफ दिखाई क्यों न देता हो।

अपने अंदर चल रहे द्वंद से जूझना

समाज पुरुषों से कठोर होने की उम्मीद करता है क्योंकि ऐसा करने से वह बेहतर इंसान बनकर उभरते हैं, जो होना भी चाहिए, लेकिन जो बात अक्सर लोग नहीं समझ पाते हैं वह यह है कि पुरुष भी भावनात्मक समस्याओं से पीड़ित हो सकता है  और इसे बाहर निकालने की आवश्यकता महसूस करता है। हालांकि, सामाजिक कंडीशनिंग ने उनके लिए अपनी गहरी आशंकाओं और कमजोरियों को व्यक्त करना बेहद मुश्किल बना दिया है। जब तक वे आप पर अपना पूरा भरोसा नहीं रख सकते, तब तक वे अपनी वास्तविकता को छिपाने की पूरी कोशिश करेंगे।