स्वप्नदोष से परेशान, जानें क्या है समाधान #loveromance
October 7th, 2020 | Post by :- | 181 Views

स्वप्नदोष जिसे अंग्रेजी में वेट ड्रीम्स, नाईट फॉल और नोक्टर्नल एमिशन के नाम से भी जानते हैं किशोरावस्था में प्रवेश कर चुके लड़कों में आम होता है। यदि कभी कभी ऐसा होता है तो इसमें कोई समस्या जैसी बात नहीं है, लेकिन जो पुरुष किशोरावस्था के बाद भी स्वप्नदोष की समस्या से जूझ रहे होते हैं, उन्हें डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। शोधकर्ताओं के अनुसार पुरुष इस समस्या के बारे में खुल के बात करने में शर्मिन्दा महसूस करते हैं, इसलिए वो इस समस्या पर ध्यान नहीं देते और नजरअंदाज कर देते हैं। स्वप्नदोष की समस्या से शर्मिन्दा होने या इसे नजरअंदाज करने से पहले इसके बारे में पूरी तरह जान ले।

स्वप्नदोष का कारण:

सोते वक्त कभी-कभी जननांगो में कपडे द्वारा या फिर सोने की मुद्रा(पोजीशन) की वजह से उत्तेजना बढ जाती है और अनैच्छिक रूप से स्खलन(इजाकुलेशन) हो जाता है। कभी-कभी लिंग में बिना किसी स्पर्श के भी स्खलन हो जाता है। शरीर में वीर्य का निर्माण होते रहता है चाहे आप यौन रूप से सक्रीय हो या ना हो या फिर आप नियमित रूप से हस्तमैथुन करते हो या नहीं करते हो। अगर आप नियमित रूप से चरमोत्कर्ष(ओर्गाज्म) का अनुभव नहीं करते और फिर भी कामुक हो जाते हैं, तो प्रोस्टेट ग्लैंड(प्रोस्टेट ग्रंथि) में वीर्य की बहुलता आपके जननांगों को सवेंदनशील बना देती है और स्वप्नदोष हो जाता है।

कब होता है स्वप्नदोष?:
स्वप्नदोष की समस्या किशोरावस्था की उम्र में ही होती है। इस उम्र में शरीर में वीर्य का निर्माण तेजी से होता है, जिसकी वजह से वीर्य की अधिकता स्वप्नदोष के रूप में सामने आती है। आमतौर पर स्वप्नदोष सोते वक्त ही होता है। मगर कभी-कभी किसी भी वक्त बिना किसी उत्तेजना और लिंग में स्पर्श के भी हो जाता है, इसे भी स्वप्नदोष ही कहते हैं। ये जरुरी नहीं कि स्वप्नदोष के दौरान आपके लिंग में तनाव हो। स्वप्नदोष बिना अलैंगिक तनाव के भी हो जाता है। एक आंकड़े के अनुसार 80% प्रतिशत से ज्यादा पुरुष अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार स्वप्नदोष का अनुभव करते हैं।

कैसे पायें स्वप्नदोष से निजात?:
स्वप्नदोष का होना किसी भी तरह के शारीरिक या मानसिक विकार का संकेत नहीं है। वास्तव में स्वप्नदोष का होना इस बात का सूचक है की आपका प्रजनन तंत्र सही से काम कर रहा है। हालांकि, स्वप्नदोष अगर नियमित रूप से होने लगे तो ये परेशानी का सबब बन सकता है। ऐसे में इसे रोकना जरुरी हो जाता है। जीवन शैली में बदलाव लाकर या फिर व्यायाम और योग की मदद से स्वप्नदोष की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

स्वप्नदोष से निजात पाने तरीके:

1.रिलैक्स रहें:
कुछ मामलों में बहुत ज्यादा तनाव स्वप्नदोष की वजह बन जाता है। ऐसे में अच्छी नींद का लेना और नियमित व्यायाम करना स्वप्नदोष से निजात पाने का अच्छा उपाय है।

2. ढीले कपडे पहन कर सोयें:
ढीले कपडे पहन कर सोना या फिर निर्वस्त्र होकर सोने से भी स्वप्नदोष के होने की संभावना कम हो जाती है।

3. मसालेदार भोजन का सेवन कम करें:
ज्यादा तीखे और मसालेदार भोजन का सेवन भी स्वप्नदोष की समस्या के लिहाज से सही नहीं होता। गर्म भोज्य पदार्थ जैसे हरी मिर्च का सेवन कम कर दें।

4. कामुक करने वाली चीजो से दूर रहे:
जितना हो सके उतना उन स्थितियों से दूर रहने की कोशिश करें जिनसे आप कामुक हो जाते हैं। पोर्नोग्राफिक सामग्री से दूर रहें।

5. योग और मेडिटेशन करें:

योग और मेडिटेशन आपकी आत्मा और शरीर दोनों एक दूसरे से करीब लाने में मदद करते हैं। योग और मेडिटेशन करें और मानसिक शान्ति बनाये रखें।

6. शहद और मेथी:
शहद और मेथी के पाउडर को बराबर भाग में मिला लें और इस मिश्रण का सोने से पहले रोजाना सेवन करें। यह मिश्रण अच्छी नींद लाने में मदद करता है और स्वप्नदोष जैसी समस्या को दूर करता है।