प्रेग्नेंसी में आम खाएं या ना खाएं? #loveromance
October 9th, 2020 | Post by :- | 166 Views

प्रेग्नेंसी के दौरान उठने-बैठने से लेकर खाने-पीने तक के लिए हिदायतों का तांता लग जाता है. आपकी कई सारी पसंदीदा खाने-पीने की चीज़ों पर भी रोक लग जाती है. इसका मतलब होता है अपनी पसंदीदा फलों को अलविदा कहना. लेकिन शुक्र है, आम उस सूची में नहीं आता! असल में फलों के राजा आम में कई आवश्यक पोषक तत्व होते हैं, जो बच्चों के विकास के लिए लाभकारी होते हैं.

आम के फ़ायदेः आम में आयरन (हीमोग्लोबिन के लिए अच्छा होता है), विटामिन ए (आंखों की रौशनी बढ़ाता है), विटामिन सी (इम्यूनिटी बढ़ाता है और फ्री रैडिकल्स से लड़ने में मदद करता है), पोटैशियम (लिक्विड्स को संतुलित करता है), फ़ाइबर (अपचन से लड़ता है) और अन्य पोषक तत्व होते हैं. इसमें अन्य फलों की तुलना में ज़्यादा शुगर की मात्रा होती है, जो इसे केक और पेस्ट्रीज़ की जगह सेहतमंद विकल्प बनाता है. तीसरे महीने में जब आपके शरीर को ऊर्जा की ज़रूरत होती है, उस दौरान यह एक अच्छा स्नैक साबित हो सकता है.

इसके साथ जुड़े जोख़िम: हालांकि आम प्रेग्नेंसी के दौरान खाने के लिए सुरक्षित है, लेकिन आम को पकाने के लिए इस्तेमाल किए गए कैल्शियम कार्बाइड नुक़सानदेह हो सकते हैं. यदि आपको जेस्टेशनल डायबिटीज़ हो या होने की संभावना हो, तब आपको इस फल को नहीं खाना चाहिए. आम को नियंत्रित मात्रा में खाएं, वर्ना डायरिया होने की भी संभावना रहती है, जिससे आपको डीहाइड्रेशन हो सकता है.

कैसे खाएं: आम का मौसम होने पर ही इसे ख़रीदें और केमिकल्स को हटाने के लिए इसे अच्छी तरह धोएं. आम को सीधे छिलके के साथ खाने के बजाय छील कर खाएं. यदि संभव हो तो कच्चा आम लें और उसे घर पर पकाएं, ताकि वे केमिकल-मुक्त रहें. इसके अलावा चाकू और अन्य जो भी चीज़ें आम के संपर्क में आ रही हैं, उन्हें अच्छी तरह धो लें. स्मूदी, जूस या डिज़र्ट बनाते समय कितना अतिरिक्त शुगर डल रहा है, इसका ख़ास ख़्याल रखें.