चुंबन के रसायन, भूगोल और प्रैक्टिकल का ज्ञान, कर देगा आपका काम आसान… #loveromance
October 17th, 2020 | Post by :- | 115 Views

प्यार के प्रदर्शन का सबसे मीठा तरीक़ा है चुंबन. क्या आपने कभी इस बात पर ग़ौर किया है कि चुंबन कितना कुछ ऐसा कह जाता है, जिसे हम शब्दों में भी बयान नहीं कर सकते? हमने चुंबन के रसायन, भूगोल और प्रैक्टिकल के बारे में जुटाई हैं कुछ काम की जानकारियां.
आपने न जाने कितनी फ़िल्मों में देखा होगा, जब फ़िल्म की हीरोइन या हीरो अपने पार्टनर के सामने शिकायतों का पिटारा खोले बैठे रहते हैं तो उनका साथी कोई जवाब देने के बजाय उन्हें आगोश में लेकर चुंबन (किस) दे देता है. जी हां, बिल्कुल… प्यार पर अपनी मुहर लगाने के अलावा प्यार के हर सवाल और हर नाराज़गी को पलभर में छू-मंतर करने का जंतर भी है चुंबन. यदि आप इसे सही समय पर, सही तरीक़े से लेने में महारत हासिल कर लें तो प्यार की बगिया में चुंबन की खेती ताउम्र चलती रहेगी. और यदि आप चुंबन की केमिस्ट्री, जिओग्रफ़ी और प्रैक्टिकल के बारे में जान लें तो? आपकी लव-लाइफ़ सेट हुई समझिए. तो चलिए, हम इसे सेट करने में आपकी मदद कर देते हैं…

चुंबन की केमिस्ट्री
न्यू यॉर्क के लाफ़ायेट कॉलेज की न्यूरोसाइंस की प्रोफ़ेसर वेंडी हिल ने काफ़ी पहले इस बात पर मुहर लगा दी थी कि चुंबन में केमिस्ट्री पूरी तरह से शामिल है. उन्होंने अपनी रिसर्च के नतीजों से पाया कि चुंबन के तुरंत बाद इसमें शामिल कपल में स्ट्रेस बढ़ाने वाले हार्मोन कॉर्टिसोल में ज़बर्दस्त गिरावट हुई… यानी चुंबन तनाव को कम करता है! यदि आपको चुंबन लेने का यह कारण पर्याप्त नहीं लगता तो आगे पढ़िए, वर्ष 2009 में वेस्टर्न जरनल ऑफ़ कम्यूनिकेशन में छपी एक स्टडी के अनुसार, चुंबन आपकी सेहत पर हर तरह से सकारात्मक असर डालता है. प्यारभरे चुंबन से सीरम कोलेस्टेरॉल में कमी होती है और रिश्ते में संतुष्टि आती है. यही नहीं, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के साइकोलॉजी के प्रोफ़ेसर जस्टिन लेमिलर का कहना है कि जब हम किस करते हैं हमारे दिमाग़ में डोपामाइन की जैसे बाढ़ आ जाती है. यह वही केमिकल है, जो हमारे शरीर में तब पैदा होता है, जब हम अपनी किसी पसंदीदा गतिविधि में शामिल होते हैं, जैसे-अपनी पसंद का संगीत सुनना, सेक्स या अपनी पसंद का खेल खेलना. तो अब आप केमिस्ट्री को चुंबन के अंदाज़ में पढ़कर देखिए और रिश्ते को नई केमिकल ऊंचाइयों तक पहुंचाइए.

चुंबन की जिओग्रफ़ी
जिस तरह धरती का भूगोल बड़ा है, चुंबन का भूगोल इससे कहीं कम नहीं है. यूं तो चुंबन के कई तरीक़े हैं, पर हम यहां आपको 11 चुनिंदा तरीक़ों और उनके अर्थ के बारे में बता रहे हैं, जो अमूमन कपल्स का दिल ख़ुश कर देते हैं…
हाथों पर: यह प्यार के शुरुआती दौर का चुंबन है. जब आप अपने पार्टनर को हाथों पर किस करती हैं तो आप उसके प्रति अपने गहरे प्यार और सम्मान को प्रदर्शित करती हैं.
माथे पर: किसी भी पार्टनर द्वारा अपने पार्टनर के माथे पर दिया गया चुंबन उसे एहसास दिलाता है कि मुझे तुम्हारी फ़िक्र है और मैं तुम्हें बेहद प्यार करती/करता हूं!
एन्जल किस: अपने पार्टनर की आइलिड या आंखों के किसी भी हिस्से पर चुंबन लेना एन्जल किस है और यह चुंबन आपके अथाह प्यार को दर्शाता है. जब कभी आप अपने प्रेमी से लंबे समय के लिए जुदा हो रही हों, यह चुंबन आप दोनों को इस जुदाई के बाद के मिलन का संबल देगा.
गालों पर: यह बहुत ही सभ्य और सामान्य-सा चुंबन है. आप जिसे इस तरह का चुंबन देती हैं, उसे इस बात की आश्वस्ति मिलती है कि आप उसे पसंद करती हैं. यदि आप डेट पर किसी को पसंद करती हैं तो बेझिझक यह चुंबन दिया जा सकता है.
एस्किमो किस: पार्टनर की नाक से नाक रगड़कर उसकी नाक पर एक हल्का-सा चुंबन एस्किमो किस है. यह एक प्यारभरा दोस्ताना चुंबन है. इसे आप प्यार की ओर बढ़ाए गए दूसरे क़दम की तरह इस्तेमाल कर सकती हैं.

होंठों पर: अपने पार्टनर के होंठों पर हल्का प्यारभरा चुंबन आप दोनों के नज़दीक आने और एक-दूसरे के प्यार में गहरे डूब जाने का संकेत है.
सिंगल लिप किस: अपने होंठों से अपने साथी के निचले होंठों पर सौम्यता से अपना समूचा प्यार उड़ेलना यही है सिंगल लिप किस. यदि आपका साथी आपको सिंगल लिप किस देता है तो याद रखें इस किस का यह उसूल है कि अपने साथी को ऐसा ही चुंबन वापस देना होगा.
फ्रेंच किस: होंठों के आगे, जब प्यार अपनी चरम ऊंचाइयों पर हो और चुंबन में आप दोनों की जीभ यानी टंग भी शामिल हो जाए… तब आपकी आंखें अपने आप बंद हो जाएंगी. फ्रेंच किस प्यार के इज़हार और चुंबन दोनों की ही पराकाष्ठा है.
गर्दन पर: फ्रेंच किस के बाद अपने प्यार की गरमाहट में नई ऊर्जा डालने के लिए अपने साथी की गर्दन पर दिया गया एक मदभरा चुंबन उसे जता देगा कि आप अपने रिश्ते को अगले स्तर पर ले जाने के लिए तैयार हैं!

कानों पर: यह भी फ्रेंच किस से ब्रेक लेने का अगला स्टेप हो सकता है. इस चुंबन को लेने का तरीक़ा बहुत आसान है. आपको बस, अपने साथी के कान के निचले हिस्से को अपने होंठों के बीच लेकर उसे सौम्यता से नीचे की ओर खींचना है. ये आपके साथी को आपके सामीप्य का भला-सा एहसास देगा.
जॉलाइन पर: अबकि आप अपने साथी को जॉलाइन पर प्यारभरा चुंबन देकर इसका जादुई असर ख़ुद ही देखिएगा… यह चुंबन आपके रोमैंस को हर बार एक नई परिभाषा में बांध देगा.

चुंबन का प्रैक्टिकल
अब जबकि आप किस की केमिस्ट्री और भूगोल जान चुकी हैं, हम आपको यहां चुंबन के ऐसे प्रैक्टिकल टिप्स देने जा रहे हैं, जो रिश्ते को आगे ले जाने में आपके बहुत काम आएंगे. तो शुरुआत सबसे पहली और सबसे महत्वपूर्ण बात से:
• चुंबन लेने से पहले यह बात आपको अच्छी तरह मालूम होनी चाहिए कि आप दोनों के बीच बात दोस्ती
से कहीं आगे बढ़ चुकी है. जब आप इस बारे में सुनिश्चित हो लें तो अपने पार्टनर के साथ फ़्लर्टिंग का पूरा आनंद लें, क्योंकि ये फ़्लर्टिंग आप दोनों को चुंबन के मूड में ले आएगी.
• इससे पहले कि आप दोनों के होंठ एक-दूसरे के होंठों का स्वाद चखें, एक बार आइ कॉन्टैक्ट बना लेना चुंबन के सुख को कई गुना बढ़ा देगा. जब चुंबन में अंतरंगता की गरमाहट आ मिलेगी तो आप दोनों की आंखें अपने आप मुंद जाएंगी. पर बीच-बीच में उन्हें खोल लेना आपके चुंबन को और मधुर और आपके साथ को और अर्थवान बना देगा.
• चुंबन के बीच की गई शरारतें उसे और भी यादगार बना देती हैं. जब मन हो अपने पार्टनर की नाक से अपनी नाक को स्पर्श करा लें या फिर उनकी नाक पर ही चुंबन ले डालें. इस दौरान हंसने और खिलखिलाने का कोई मौक़ा न छोड़ें. इस बात पर नज़र बनाए रखें कि किस-किस तरह के चुंबन आप दोनों को किस-किस तरह से गुदगुदाते हैं, ताकि उन्हें वक़्त-वक़्त पर दोहराया जा सके!