Relationship Tips: इन 4 तरीकों को अपनाकर बनाएं एक टॉक्सिक रिलेशनशिप से हेल्‍दी रिलशनशिप .. #loveromance
October 19th, 2020 | Post by :- | 158 Views

क्‍या आपके भी अपने पार्टनर के साथ मतभेद, बहस या लड़ाईयां होती हैं? अगर हां, तो घबराएं नहीं यह आम बात है। जहां, दो लोग साथ रहते हैं, एक-दूसरे की केयर करते हैं और एक-दूसरे से प्‍यार करते हैं, वहां छोटी-मोटी लड़ाईयां और बहस होना आम बात है। लेकिन जब ये लड़ाईयां और मतभेद इतने बढ़ जाते हैं, कि दो लोगों की कभी भी आपसी सहमति नहीं हो पाती है, तो यह टॉक्सिक रिलेशनशिप कहलाता है। ऐसे रिश्‍ते में हमेशा संघर्ष, लड़ाईयां और टकराव शुरू हो जाते हैं। फिर ऐसे में जीवन में निराशा, एक दूसरे से सम्‍मान न मिलना आदि चीजें भी होने लगती हैं। लेकिन अगर आप चाहें, तो कुछ प्रयासों की मदद से एक टॉक्सिक रिलेशनशिप को एक हेल्‍दी रिलशनशिप में बदल सकते हैं। आइए यहां जानिए कैसे?

रिश्‍ते पर इंवेस्‍ट करे और इस बारे में बात करें

यदि आप एक टॉक्सिन रिलेशनशिप से निकलकर, उस रिश्‍ते को सुधारना चाहते हैं, तो आपको अपने रिश्‍ते को फिर से मजबूत बनाने के लिए उस पर निवेश करना होगा। वहीं यदि आप में से कोई एक अपने पार्टनर को नजरअंदाज कर रहा है, तो आप इस बारे में बात करें। गुस्‍से से नहीं, बल्कि प्‍यार से। आप उनकी स्थिति और परिस्थिति को भी समझें और उन्‍हें आराम से अपनी स्थिति भी समझाएं। हर संघर्ष के लिए हमेशा दो पक्ष होते हैं। एक बार जब आप इसे समझ लेते हैं और स्वीकार करते हैं, तो आपके लिए फिर से जुड़ना स्वाभाविक हो जाता है।

रिश्‍ते को अच्‍छा बनाने के लिए रखें इन ABCD का ध्‍यान

यदि आप अपने रिश्‍ते को एक हेल्‍दी रिश्‍ता बनाना चाहते हैं, तो आपको अपने रिश्‍ते में इन ABCD का ध्‍यान रखना चाहिए। जिसमें – आरोप, दोष, आलोचना और मांग (accusations, blame, criticisms, and demands) शामिल है। यह ABCD एक टॉक्सिन रिलेशनशिप का आधार हैं। इसलिए आप अपने साथी से इनके बारे में बात करें और इस आदत या व्‍यवहार को समाप्त करने के लिए मिलकर काम करें। जब आप अपने आप को इन व्यवहारों को छोड़ देंगे, तो इससे स्‍वाभाविक रूप से आपके रिश्‍ते में सुधार होगा।

ब्‍लेम गेम खेलना छोड़ें

ब्‍लेम गेम का मतलब है कि आप एक-दूसरे को दोष देना जब तक बंद नहीं करेंगे, रिश्‍ते मे सुधार नहीं हो सकता है। इसलिए टॉक्सिक रिलेशनशिप से एक हेल्‍दी रिलेशन में जाने के लिए आप ब्‍लेम गेम से दूर रहें और एक-दूसरे को समझने की कोशिश करें। इसके अलावा, आप अपनी जिम्‍मेदारियों का ध्‍यान भी रखें।

थोड़ा दयालू बने

कभी यदि आपको लगता है कि आपका पार्टनर परेशान है या उसपर वर्कलोड ज्‍यादा है, तो आप दयालू बनकर उनकी कुछ मदद करने की कोशिश करें। वहीं आप हर समस्‍या के लिए अपने पार्टनर को दोषी न मानें। कई बार हो सकता है कि आप उनकी गलती होने पर भी उनको दोष न दें, ऐसा करने से आपका रिश्‍ता वापिस अच्‍छा हो सकता है।

इस प्रकार कई ऐसी छोटी-छोटी चीजे हैं, जिन्‍हें बदलकर आप अपने बिगड़ते रिश्‍ते को सुधार सकते हैं। जरूरी नहीं कि हर बार आप सही हों, इसलिए कभी खुद को गलत मानकर देखें अपने पार्टनर को समझने की कोशिश भी करें। अगर दोनों लोग ऐसा करते हैं, तो इसमें कोई शक नहीं कि आपके रिश्‍ते में सुधार न आएगा।