पुल-आउट मेथड से जुड़ी कुछ जानकारी जिनके बारे में पता होना जरूरी है…. #loveromance
October 24th, 2020 | Post by :- | 213 Views

अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने के लिए कई लोग गर्भनिरोध चीजों का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इसके लिए कौन सा तरीका ठीक है इसका निर्णय लेने में लोग अक्सर परेशान हो जाते हैं। महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने से बचती हैं क्योंकि इसके साइड इफेक्ट भी होते हैं। इस परिस्थिति में अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने के लिए पुल-आउट मेथड का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह मेथड ज्यादा प्रभावी नहीं होता है क्योंकि इससे प्रेग्नेंट होने की संभावना होती है। तो आइए आपको गर्भनिरोध के पुल-आउट तरीकों के बारें में बताते हैं और उससे जुड़ी जानकारियों के बारे में बताते हैं।

क्या है पुल आउट मेथड: पुलआउट मेथड इसके नाम की तरह होता है। इस तरीके में जैसे ही पुरूष को ये आभास होता है कि वो इजैकुलेट होने वाले हैं तो वो अपने जेनाइटल को बाहर निकाल लेते हैं। इससे स्पर्म एग तक पहुंचने में असमर्थ हो जाता है और प्रेग्नेंट होने की संभावना कम हो जाती है।

पुलआउट मेथड से जुड़ी बातें:

हमेशा काम नहीं करता है: पुल-आउट मेथड का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि यह हमेशा काम करे ऐसा जरुरी नहीं होता है। ऐसा तब होता है जब पुरुष सही समय पर पुल आउट नहीं कर पाते हैं। इससे गर्भधारण करने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए गर्भनिरोध के इस तरीके का इस्तेमाल करने से पहले ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत होती है।

यौन संचारित रोग से सुरक्षा नहीं करता है: इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि पुलआउट मेथड सिर्फ गर्भधारण को रोकने में मदद करता है। यह आपको यौन संचारित रोगों से नहीं बचाता है। तो आपको असुरक्षित तरीके से यौन संबंध बनाने से पहले सोचना चाहिए।

लंबे समय तक काम नहीं आता है: अगर आप एक सही गर्भनिरोध मेथड के बारे में सोच रहे हैं तो पुलआउट मेथड एक सही उपाय नहीं है। इस तरीके की वजह से यौन संबंधित रोग और अनचाहे गर्भधारण धारण कर सकते है इसलिए इस मेथड का चुनाव करने से पहले जरुर सोच लें।

इसमें पैसे खर्च नहीं होते हैं: इस मेथड का इस्तेमाल करने में पैसे खर्च नहीं होते हैं इसलिए ज्यादातर लोग पुलआउट मेथड का इस्तेमाल करना पंसद करते हैं। लेकिन इसके इस्तेमाल से पहले खतरों के बारे में जानना भी जरुरी होता है।