मानसिक और भावनात्‍मक रूप से आपको मजबूत बनाता है ब्रेकअप या धोखा … #news4
October 25th, 2020 | Post by :- | 146 Views

प्‍यार में गुडबाय या अलविदा कभी आसान नहीं होती। जब कोई आपसे या आप किसी से प्यार करते  है और इस बीच दोनों में से कोई किसी का दिल से तोड़ देता है या आपके साथ विश्वासघात करता है, तो दुनिया उल्टी सी लगने लगती है। एक रिश्ता जिसमें कि भावनाओं और समय का निवेश करने के बाद, जो जीवित नहीं रह सका, एक व्यक्ति पर भावनात्मक और मानसिक दोनों तरह से बुरा असर डालता है। यदि आप जीवन के इस चरण से गुज़रे हैं या गुजर रहे हैं, तो याद रखें कि केवल आपके पास ही आपके जीवन का रिमोट कंट्रोल है। जैसा कि बुजुर्ग कहते हैं, समय सभी घावों को ठीक करेगा, ठीक ऐसा ही होता है। आप समय के साथ सब कुछ भूल जाएंगे लेकिन प्यार और रिश्तों के महत्वपूर्ण सबक पर ध्यान दें, जो इस चरण ने आपको सिखाया है। ये आपको भावनात्मक और मानसिक रूप से मजबूत रहने में मदद करता है। यदि आप इस ट्रॉमा से गुजर रहा है, तो उन्हें इस लेख को पढ़ें।

कुछ भी स्थायी नहीं है, यहां तक रिश्ते भी नहीं

धोखा या जुदाई आपको प्यार से जुड़ा एक महत्वपूर्ण सबक सिखाती है, कि किसी भी रिश्ते को जबरन बनाए नहीं रखा जा सकता है। रिश्ता जो भी हो, अगर आप महसूस न करने के बावजूद उसमें बंधे रहेंगे, तो यह आपको मानसिक तनाव और परेशानियां देगा। इसलिए जब भी जीवन में एक रिश्ता आपके सभी प्रयासों के बावजूद ठीक नहीं होता है, तो आपको इसे तोड़ देना चाहिए। हालांकि ब्रेकअप के बाद आपको अपने पार्टनर की याद आ सकती हैं, जिसमें एक्‍स की याद आने के कुछ सामान्‍य कारण हो सकते हैं।

समय सबसे अच्छा मरहम लगाता है

अपने ब्रेकअप पल के बारे में सोचें और ध्यान दें कि आप कितने परेशान थे। कुछ दिनों तक आप ब्रेकअप से निकल नहीं पाते हैं लेकिन धीरे-धीरे सबकुछ सही लगने लगता है। आप ब्रेकअप के कुछ महीनों बाद का समय याद करें, तब आपको अपने साथी के बिना रहने की आदत पड़ गई होती है।  इसलिए, आपको यह सीखने को मिलता है कि दुख चाहे कितना भी बड़ा क्यों न हो, समय के साथ समाप्त हो जाता है। बस समय पर सबकुछ छोड़ दें और आप देखेंगे कि यह आपको अपने पुराने आत्मविश्‍वास को वापस लाने में कैसे मदद करता है।

दुनिया में कोई भी इंसान परफेक्ट नहीं होता है

आमतौर पर प्यार की शुरुआत में पार्टनर एक-दूसरे की तारीफ करते नहीं थकते। लेकिन कुछ समय बाद आप जिनकी तारीफ करते नहीं थकते थे, उनमें आपको कुछ कमियां दिखने या महसूस होने लगती है। जब रिश्ते में दरार आने लगती है, तो आप एक-दूसरे में बुराइयाँ देखने लगते हैं। इसलिए एक बात, जो आपको ब्रेकअप से सीखनी चाहिए वह यह है कि दुनिया का कोई भी इंसान परफेक्ट नहीं है। हर इंसान की कुछ कमियाँ होती हैं और कुछ अच्छाई। इसलिए बेहतर है कि आप उस व्यक्ति के साथ रहें, जो आपको खुशी देता है। उस रिश्ते को स्वीकार करें, जिसे आप उसकी कमियों के साथ भी जोड़ना चाहते हैं। इसके अलावा, आप कुछ संंकेतों को पहचानकर आप पता कर लगा सकते हैं कि आपने गलत पार्टनर चुना है। 

आप किसी को अपने साथ रहने के लिए मजबूर नहीं कर सकते

आमतौर पर, ज्यादातर लोग सोचते हैं कि वे किसी भी रिश्ते में सबसे अच्छे पार्टनर होंगे। लेकिन ऐसा नहीं हो सकता कि सामने वाला भी वही सोचता हो। क्‍योंकि वह ऐसा नहीं सोचता इसलिए उसने एक- दूसरे को छोड़ने का फैसला किया है। यहां यह जानना महत्वपूर्ण है कि आप अपने लिए परिपूर्ण हो सकते हैं, लेकिन आप किसी अन्य व्यक्ति को खुद से प्यार करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते हैं।

इसलिए ब्रेकअप के बाद ऐसा न समझें कि जिंदगी यही पर रूक चुकी है या थम गई है। बल्कि ब्रेकअप या धोखा आपको भावनात्‍मक और मानसिक रूप से मजबूत बनाने में मदद करता है।