Trust Issues: ये 4 संकेत जो आपके भरोसे के मुद्दों को करते हैं उजागर, जानें कैसे इस समस्या से निपटें … #loveromance
October 25th, 2020 | Post by :- | 156 Views

हर किसी के साथ किसी न किसी को लेकर भरोसे पर मतभेद होते हैं, किसी का अपने जीवनसाथी को लेकर ये स्थिति होती है तो किसी का अपने दोस्तों के साथ। लेकिन क्या आप जानते हैं भरोसे को लेकर जो मतभेद आपके अंदर होते हैं वो बाहर भी नजर आते हैं। आपके शारीरिक गतिविधियों से इन मतभेद को आसानी से पहचाना जा सकता है। अगर आप या आपका साथी भरोसे के इस मुद्दों से गुजर रहे हैं, तो यह आपके रिश्ते में भी कभी न कभी आने की संभावना है जो आपके रिश्ते को खराब भी कर सकती है। ऐसी ही स्थिति परिवार और दोस्तों के साथ भी हो सकती है। इसलिए हम आपको इस लेख के जरिए कुछ सामान्य संकेत बताने जा रहे हैं जो आपके भरोसे वाले मुद्दे को दिखाता है।

भरोसे के मुद्दों के कुछ सामान्य संकेत (Some Common Signs Of Trust Issues)

किसी भी प्रतिबद्धता से बचना

विश्वास के मुद्दों वाले लोगों को अक्सर प्रतिबद्धता यानी किसी भी बात को कहने के साथ परेशानी होती है। रिलेशनशिप के एक्सपर्ट्स का कहना है कि जब आप ट्रस्ट के मुद्दों का अनुभव करते हैं, तो एक भरोसेमंद और रिश्ते को पूरा करने की संभावना पर खतरा होने लगता है। इसके साथ ही आप किसी सामने वाले से कोई भी वादा या आश्वासन देने से बचते हैं।

हमेशा ये सोचना कि कोई आपको दर्द दे रहा है

विश्वास के मुद्दों वाले लोग इस धारणा से भी गुजर रहे होते हैं कि लोग जानबूझकर उन्हें चोट पहुंचाने के लिए काम कर रहे हैं। सामान्य तौर पर, इस तरह के इशारों, तारीफों या प्रेम को स्वीकार करना मुश्किल हो सकता है, क्योंकि आप विश्वास नहीं कर सकते हैं कि वे वास्तविक हैं और किसी गलत उद्देश्यों के साथ कर रहे हैं।

खुद को दूसरों से अलग करना

भरोसे को लेकर ऐसे मुद्दों के कारण आप खुद को दूसरे लोगों से अलग करने लगते हैं। ऐसे कई लोग मुसीबत के सबसे छोटे संकेत पर वापस आ जाएंगे। जब आप इस स्थिति में होते हैं तो आप किसी पर भी जल्दी भरोसा नहीं कर सकते हैं। तो यह नए रिश्तों को प्राथमिकता देने से बचता है और आप शायद काफी समय तक खुद को सामने वाले शख्स से अलग रख सकते हैं।

अपने बारे में चीजों को छुपाने लगते हैं

जब आप इस भरोसे वाले मुद्दों के साथ होते हैं तो आप किसी को कुछ भी बताने से डरते हैं, जिसके कारण आप सभी बातों और समस्याओं को अपने साथ रख कर तनाव में आ जाते हैं। आप ही नहीं बल्कि ज्यादातर लोग जो भरोसे के मुद्दों से गुजर रहे होते हैं वो किसी को भी अपनी चीजें साझा करने से बचते हैं और खुद ही चीजों से निपटने की कोशिश करते हैं।

क्या करें

रिश्ते में साथ काम करें: जिन लोगों को भरोसे को लेकर समस्या होती है या उन्हें किसी पर भी भरोसा करने में डर लगता है तो आपको अपने पार्टनर के साथ या दोस्तों के साथ काम करना चाहिए। आप धीरे-धीरे पहले सामने वाले शख्स को समझें और फिर उन्हें आजमाते हुए भरोसा करना शुरू करें।

जोखिम के साथ सहज हो जाएं: भरोसा करने की बात आती है तो जोखिम के साथ आराम से रहने की आदत डालें। हर कोई आपको कहीं न कहीं निराश कर सकता है। इसका मतलब यह नहीं है कि उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। आप उन्हें एक और मौका देकर भरोसा कर सकते हैं।

पिछले धोखे को भूलाएं: अगर पहले कभी आपका भरोसा टूटा है तो आप अपने उस धोखे को भूलाने की कोशिश करें और सामने वाले शख्स पर भरोसा करना सीखें। हर किसी के साथ ऐसा होता है कि धोखा मिलने के बाद उन्हें किसी पर भरोसा करने से डर लगता है। लेकिन जब तक आप अपने पिछले धोखे को नहीं भूलाएंगे आप जिंदगी में कभी किसी पर भरोसा नहीं कर सकते। इसलिए आपको खुद को बदलने का मौका देना चाहिए।