जानिए ब्रेकअप के बाद भी क्‍यों आती है अपने ‘पुराने प्‍यार’ की याद, ये हैं ‘एक्‍स’ की याद आने के 5 कारण … #news4
October 25th, 2020 | Post by :- | 232 Views

जीवन में कितने भी आगे बढ़ जाएं, पुरानी यादें कभी आपका पीछा नहीं छोड़तीं। अकसर आपने देखा होगा कि जब भी कोई छोड़ कर जीवन से चला जाता है तो हम उसे भुलाने के लिए किसी और के प्यार का सहारा लेते हैं। सोचते हैं कि शायद किसी और के जीवन में आ जाने से हम अपने पुराने प्यार को आसानी से भूल पाएंगे। कुछ मामलों में ऐसा होता भी है लेकिन कुछ लोग हेल्दी रिलेशन में होने के बावजूद पुराने रिलेशन को, उसकी यादों को नहीं भुला पाते है। वो अपने अतीत के कारण वर्तमान को खराब कर देते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने वर्तमान साथी से प्यार नहीं करते हैं। बस वो अब भी पुरानी यादों की गिरफ्त में हैं। जानते हैं कि आखिर क्यों पुराने रिलेशन की याद आती है:

1. मन में अब भी उम्मीद होना

अपने पुराने रिलेशन को बार-बार याद करने का मतलब ये नहीं कि आप अपने आज के रिश्ते को खराब कर रहे हैं। हो सकता है कि अब भी आपके मन में एक छोटी सी उम्मीद हो। लेकिन इन यादों को अपने वर्तमान साथी के सामने न आने दें। ऐसे में आपका साथी भी आप पर संदेह कर सकता है।

2. स्पेशल बॉन्ड के कारण

निश्चित रूप से आप दोनों ने एक स्पेशल बॉन्ड साझा किया है, जिसकी यादें अभी भी आपको सताती हैं। कुछ समय के लिए अपने अतीत को याद करना सामान्य है। लेकिन आप उन यादों के आधार पर निर्णय नहीं ले सकते हैं। और अगर आप ऐसा करते हैं तो हो सकता है कि उस निर्णय के कारण आप अपने वर्तमान रिश्तों को भी खराब कर लें।

3. दोनों के बीच का कंफर्टजोन

एक लंबे रिलेशनशिप के दौरान, दो लोगों के बीच कंफर्टजोन बन जाता है। आप एक दूसरे के बारे में जानते हैं और अपनी भावनाओं को एक दूसरे के साथ शेयर करते हैं। ये सब भावनाएं अब भी हैं। लेकिन फिर भी पुराने साथी के साथ ये पल आप पहले जी चुके हैं इसलिए फिर से इन्हीं पलों को किसी और के साथ दोहराने पर आप पुरानी यादों में खो जाते हैं। जरूरी नहीं कि हर पुरानी याद बुरी हो। कुछ यादों को साथ लेकर आगे बढ़ा जा सकता है।

4. अपने ‘ओल्ड वर्जन’ को याद करना

वैसे तो हर रिश्ता अलग होता है। लेकिन अगर पुराने रिश्तों में की गई गलती से सबक लिया जाए तो प्रेजेंट रिलेशनशिप और ज्यादा मजबूत और लॉन्ग टर्म बन सकता है। एक समय ऐसा भी आएगा जहां आप अपने एक्स के साथ ‘रीयल मी’ यानि अपना पुराना वर्जन याद करेंगे।

5. पुराने रिश्ते की नए के साथ तुलना करना

हर व्यक्ति की आदत होती है कि वह रिश्तों के बीच तुलना करता है। ये आदत बुरी नहीं है। बल्कि ये तो स्वभाविक है।  आप अपने पूर्व और उन चीजों में तुलना कर सकते हैं जो उसने आपके लिए किया था। लेकिन हर चीज में तुलना करना भी ठीक नहीं। इससे रिश्तों में तनाव पैदा होता है।