रातभर जागकर आपकी नींद खराब करता है बच्चा, तो उसे जल्दी सुलाने और गहरी नींद के लिए खिलाएं ये 4 फूड्स … #news4
October 26th, 2020 | Post by :- | 171 Views

घर में अगर छोटा बच्चा हो, तो कई बार आपके लिए एक घंटा भी चैन से बैठ पाना मुश्किल होता है। छोटे बच्चे हर समय आपका अटेंशन चाहते हैं, इसलिए आपके दूर होने या ध्यान न देने पर रोने लगते हैं। कुछ बच्चों की आदत होती है कि वो दिन में सो लेते हैं और फिर रात को परेशान करते हैं। जबकि बड़ों के लिहाज से आराम का वक्त रात ही होता है। ऐसे में बच्चे के रोने, चिल्लाने, बात करने या परेशान करने से आपकी नींद भी खराब होती है। कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं, जिनकी नींद इतनी हल्की होती है कि थोड़ी सी आहट या आवाज से ही टूट जाती है और वो रोने लगते हैं। अगर आपका बच्चा भी रात में सोने के बजाय ऐसे ही परेशान करता है, तो आपको उसकी डाइट में कुछ स्पेशल फूड्स को जोड़ना चाहिए। जी हां, कुछ फूड्स ऐसे हैं, जिन्हें खाने से बच्चों को जल्दी नींद आती है। इसलिए आप शाम के समय बच्चों को ये फूड्स खिलाएंगे, तो उन्हें अच्छी और गहरी नींद आएगी।

गुनगुना दूध

छोटे बच्चों का मुख्य आहार आमतौर पर दूध ही होता है। 4-6 महीने की उम्र के बाद कुछ-कुछ सॉलिड फूड्स बच्चों को दिया जाने लगता है, लेकिन इसके बाद भी दूध बच्चों के लिए कंप्लीट फूड माना जाता है। अगर आपको बच्चों को सुलाना है, तो उन्हें सामान्य के बजाय गुनगुना दूध दें। दूध में कैल्शियम होता है और एक खास एमिनो एसिड होता है, जिसे ट्रिप्टोफैन (tryptophan) कहते हैं। ये ट्रिप्टोफैन मस्तिष्क को रिलैक्स करता है, जिससे जल्दी नींद आती है। मगर ध्यान रखें कि ट्रिप्टोफैन नैचुरल दूध में ही होता है, फार्मूला मिल्क में नहीं। सामान्य तापमान की अपेक्षा गर्म दूध में ट्रिप्टोफैन ज्यादा एक्टिव होते हैं, इसलिए गर्म दूध पीने से नींद जल्दी आती है। तो अपने बच्चों को रात में हल्का गर्म यानी गुनगुना दूध पिलाएं। एक और जरूरी बात याद रखें कि 1 साल से कम उम्र के बच्चों को गाय का दूध नहीं पिलाना चाहिए।

केला भी है फायदेमंद

केला एक ऐसा फल है, जो बच्चे आसानी से खा लेते हैं क्योंकि इसमें बीज नहीं होता और ये मुलायम होता है। केले में ढेर सारे पौष्टिक तत्व भी होते हैं, इसलिए केला बच्चों के लिए एक अच्छा फूड ऑप्शन है। मैग्नीशियम, पोटैशियम और फाइबर से भरपूर केला बच्चों की मांसपेशियों को रिलैक्स करता है, जिससे उन्हें बहुत अच्छी नींद आती है। दूसरी बात यह है कि केला खाने से शरीर में मेलाटोनिन और सेरोटोनिन नाम के दो हार्मोन्स रिलीज होते हैं, जो आराम महसूस करवाते हैं। इसलिए बच्चों को केला खिलाने से भी अच्छी नींद आती है। जरूरी नहीं कि आप साबुत केला ही बच्चों को खिलाएं। केले से आप कई तरह के बेबी फूड्स तैयार कर सकते हैं। सबसे आसान तो यही है कि केले के पल्प को मीसकर गुनगुने दूध के साथ मिलाकर बच्चों को खिलाएं।

ओट्स खिलाएं

ओट्स भी बच्चों के लिए बहुत हेल्दी और अच्छा फूड माना जाता है। ड्राई फ्रूट्स और फल डालकर चाहे मीठे ओट्स बनाएं या सब्जियां डालकर नमकीन ओट्स, दोनों ही बच्चों को पसंद आते हैं। ओट्स भी ऐसा फूड है, जिसे खाने से बच्चों को अच्छी नींद आती है। इसका कारण यह है कि ओट्स के सेवन से शरीर में एक खास हार्मोन मेलाटोनिन का उत्पादन बढ़ जाता है। इसलिए बच्चों को जल्दी सुलाना है, तो उन्हें ओटमील खिलाना भी अच्छा विकल्प है। अगर आप ओट्स के साथ केले को मीसकर देते हैं, तो ये बच्चों में नींद लाने का बहुत अच्छा कॉम्बिनेशन है।

योगर्ट

एक और बेहतरीन और हेल्दी फूड जो बच्चों को सुलाने में मदद कर सकता है, वो है योगर्ट। योगर्ट प्रोबायोटिक फूड है, इसलिए ये पाचन शक्ति को बढ़ाता है। मगर बच्चों को योगर्ट खिलाते समय कुछ बातों की सावधानी जरूरी है। बाजार में मिलने वाले बहुत सारे योगर्ट्स में शुगर होता है और वो फ्लेवर्ड होते हैं। ऐसे योगर्ट बच्चों के लिए अच्छे नहीं है। बेहतर होगा कि आप उन्हें ताजा और प्लेन योगर्ट खिलाएं, जिसमें फैट भी हो। फैट-फ्री योगर्ट्स भी बच्चों के लिए अच्छे नहीं हैं। अगर आप योगर्ट घर पर ही बना पाएं, तो ये बच्चे के लिए और भी अच्छा होगा। दूध से बनने वाला योगर्ट बच्चों के लिए इसलिए अच्छा फूड माना जाता है क्योंकि इसमें कैल्शियम होता है, जो बच्चों की हड्डियों को मजबूत बनाता है और विकास में मदद करता है।

इस तरह इन 4 फूड्स को खिलाने से आपके बच्चों को अच्छी और गहरी नींद आएगी और वो आपको परेशान किए बिना ठीक से सो पाएंगे।