स्कूल बंद लेकिन चल रही ऑनलाइन क्लास? इन 5 तरीकों से करें बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई में मदद, मिलेगा फायदा … #loveromance
October 26th, 2020 | Post by :- | 156 Views

हालांकि, पूरी दुनिया में एक बार फिर से लोगों का जीवन पटरी पर लौट रहा है लेकिन कोरोना वायरस से अभी भी जंग जारी है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए ज्‍यादातर शिक्षण संस्‍थान अभी भी बंद हैं, जिसके कारण दुनिया भर में लाखों छात्र घर से ही ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। हालांकि भारत में स्वैच्छिक आधार पर स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को दोबारा खोलने की बात चल रही है लेकिन ऑनलाइन शिक्षा लंबे समय तक शिक्षा का प्राथमिक साधन बने रहने की संभावना बरकरार रहने वाली है!

वहीं कोरोना वायरस महामारी के बीच अभिभावक अपने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए हर संभव सुविधा उपलब्‍ध करा रहे हैं लेकिन इन सबसे उनके स्क्रीन समय में भारी वृद्धि हुई है और इससे निपटने के लिए उनके रूटीन में बदलाव आसान नहीं है। अगर आपका बच्चा ऑनलाइन स्‍टडी के दौरान हिचिकचाता है या उसका पढ़ने में मन नहीं लगता तो इस लेख के माध्यम से हम कुछ टिप्‍स दे रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास के दौरान ध्‍यान भटकाने वाले एप्‍लीकेशन से बच्‍चों को रखें दूर

ऑनलाइन क्‍लास के दौरान माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई करते समय किसी भी मैसेजिंग प्लेटफॉर्म या गेम से दूर रहें। ताकी वह पढ़ाई पर ध्‍यान केंद्रित कर सकें। पेरेंट्स को वर्चुअल क्लास के दौरान सामान्य से अधिक ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है। ऐसे में लैपटॉप से ध्यान भटकाने वाले ऐप्स को उनके आस-पास न फटकने दें। इसके अलावा क्लास के दौरान अपने स्मार्टफ़ोन को अलग रखना भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

ऑनलाइन क्लास के लिए किसी शांत जगह का चुनाव करें

ऑनलाइन क्लास के दौरान बच्‍चों को लंबे समय तक लैपटॉप के सामन बिताना पड़ता है। ऐसे में उनके डिस्‍टर्ब होने की संभावना काफी बढ़ सकती है। ऐसे में उनके लिए एक निश्चित स्थान सुनिश्चित करना सबसे अच्छा विकल्‍प है। सुनिश्चित करें कि वो जगह शांत, आरामदायक और कोई भी बच्‍चे के कमरे में आसानी से आ-जा न सके। पढ़ाई के लिए मेज और कुर्सी भी लंबे समय तक बैठने के लिए आरामदायक होनी चाहिए। इससे उसका ध्यान इधर-उधर नहीं जाएगा और वह आराम से अपनी क्लास ले सकेगा।

टेक्निकल प्रॉब्‍लम पर नजर रखें

इंटरनेट कनेक्टिविटी की समस्या से लेकर खराब ऑडियो तक, बहुत सारी तकनीकी खामियां हो सकती हैं, जो आपके बच्चे के पढ़ने और सीखने के अनुभव को प्रभावित कर सकती हैं। इसलिए पढ़ाई स्‍टार्ट करने से पहले से ही इन समस्या को हल कर लेना सुनिश्चित करें क्योंकि पढ़ाई के दौरान ऐसा होने पर आपके बच्चे का ध्यान भंग हो सकता है।

बच्‍चों की परफॉरमेंश पर नजर रखें

आपका बच्चा अपनी कक्षा में क्या सीख रहा है, इस बारे में उससे लगातार सवाल पूछें। ताकि वह मन लगाकर पढ़ाई कर सके। अपनी छुट्टियों के समय में कुछ समय निकालकर साथ बैठकर चर्चा करें कि वह आज क्या पढ़ रहा है। लेक्चर के दौरान आपके बच्चे के सामने आने वाली चुनौतियों पर चर्चा करें। इस प्रकार आपको ये जानने में मदद मिलेगी कि आपका बच्चा क्या सीख रहा है।

सबसे जरूरी बात

जाहिर है कि बच्‍चों का बाहर खेलना न के बराबर हो गया है। ऐसे में आपके बच्चों को अपने स्मार्टफ़ोन में ही गेम खेलने के लिए लुभाना मजबूरी बन गया है। जैसे ही उनका होमवर्क समाप्त हो जाता है वे मोबाइल में गेम खेलने लग जाते हैं। लेकिन आपको ज्‍यादा देर तक उन्‍हें स्‍क्रीन पर नहीं रहने देना। ऑनलाइन क्‍लास के आप उनसे दिल से दिल की बातचीत करना चाहिए।