Finding Happiness: आखिर क्यों खुशी पाना राह है, मंजिल नहीं … #loveromance
November 4th, 2020 | Post by :- | 166 Views

हर कोई व्यक्ति चाहता है कि उसका जीवन खुशियों से भरा रहे। ताकि वह हमेशा खुश रह सकें। हर किसी के लिए खुशी का मतलब अलग होता है। कुछ लोगों के लिए खुशी का मतलब पैसा होता है तो कुछ लोग अपने भविष्य को पाने में खुश रहते हैं तो कुछ लोगों की खुशी छोटी-छोटी चीजों में ही होती है। उन्हें जीवन में कोई बड़ी चीज नहीं चाहिए होती है। कुछ लोग सोचते हैं कि खुशी पाना ही उनकी मंजिल है। मगर सच तो यह है कि इंसान कभी भी उस चीज से खुश नहीं होता है जो उनके पास पहले हो होता है। इसलिए हमेशा याद रखें कि खुशी आपकी मंजिल नहीं हो सकती है। यह एक राह है जिसपर चलकर आप अपनी खुशियां चुन सकते हैं। तो आइए आपको बताते हैं कि खुशी पाना क्यों मंजिल नहीं राह है।

Finding Happiness: कारण कि खुशी पाना राह है मंजिल नहीं

आपके लक्ष्य बदलते रहते हैं
आप छोटे-छोटे पलों पर ध्यान नहीं देते हैं
यह राह चलती रहती है
मंजिल भविष्य है और राह पर आप चल रहे हैं

आपके लक्ष्य बदलते रहते हैं: अगर आप सोचते हैं कि आपकी खुशी मंजिल पर है तो आप इस बात को भूल जाते हैं कि लक्ष्य समय-समय पर बदलते रहते हैं। जैसे अगर आप चाहते हैं कि आपको ज्यादा सैलेरी मिले और उसे पा लेते हैं तो उसके बाद आपका लक्ष्य बदल जाता है। तो आप अपनी खुशी को ढूंढ नहीं पाते हैं।

आप छोटे-छोटे पलों पर ध्यान नहीं देते हैं: असली खुशी आपको छोटी-छोटी चीजों में ही मिलती है। अगर आप खुशी को ही मंजिल मान बैठते हैं तो उस राह पर चलते हुए खुश रहना भूल जाते हैं। हमेशा याद रखें यह छोटे-छोटे पल ही आपको खुश रखने में मदद करते हैं।

यह राह चलती रहती है: जरुरी नहीं है कि आप अपनी मंजिल पा ही पाएं। इसलिए अपनी खुशी की राह पर फोकस करें ताकि आप हमेशा खुश रह सकें। आप ही हैं जो अपने जीवन को खुशनुमा बना सकते हैं।

मंजिल भविष्य है और राह पर आप चल रहे हैं: अगर आपको लगता है कि आप मंजिल पर पहुंचकर खुशी पा लेगें तो आप अपनी खुशियों को खुद से दूर कर रहे होते हैं। अगर आपकी राह में खुशियां होती हैं तो आपके जीवन में भी खुशियां रहती हैं। तो अपनी खुशी को मंजिल ना मानकर उसे राह बनाएं।