क्या आपका पार्टनर चुप-चुप रहना पसंद करता हैं, कहीं वो आदतन तो ऐसा नहीं! …. #news4
November 6th, 2020 | Post by :- | 117 Views

यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं जो दूसरों से सहजता से बात कर लेते हैं और आप ऐसे साथी के साथ डेट कर रहे हैं जो स्वयं को बहुत कम व्यक्त करता है या बहुत कम बोलता है अथवा आपकी शादी ऐसे व्यक्ति से हुई है जो कम बोलता है तो इस बात की बहुत संभावना है कि आपका जीवन शिकायतों और दुराव से भरा हुआ होगा। हम इस बात से इनकार नहीं करते कि कम बात करने वाले साथी के साथ निभाना आसान नहीं होता। परन्तु ऐसे व्यक्ति जो कम बोलते हैं उनके बारे में ऐसा सोचना कि वे असभ्य हैं या उन्हें आपकी चिंता नहीं है, गलत है।

वे जैसे हैं उन्हें वैसा स्वीकार करें

यदि आप अपने साथी के बारे में आश्वस्त हैं और आप जानते हैं कि शांत रहना उसके स्वभाव का एक हिस्सा है तो आपको उनके ऐसे स्वभाव के साथ रहने की आदत डालनी चाहिए। उनका इरादा आपको ठेस पहुंचाने का नहीं है।

टीका टिप्पणी न करें

कम अभिव्यक्ति के लिए अपने साथी से शिकायत न करते रहें या उन्हें बोलने के लिए दबाव न डालें। कभी कभी चुपचाप किया जाने वाला प्यार प्रदर्शन किये जाने वाले प्यार से हजार गुना अधिक अच्छा होता है।

रहस्य ही बनें रहने दे

इससे हमारा ही फायदा होता है क्योंकि इससे आपके संबंधों का रहस्य जीवित रहता है – इस बात से कोई फर्क नही पड़ता कि आप कितने समय से एक दूसरे के साथ हैं।

कोई छोटी बात नहीं

क्या यह अच्छा नहीं है? इससे बहुत से झगड़े और वाद विवाद कम हो जाते हैं। उनका कम बोलना आपके लिए फायदेमंद है और आपको यह बात समझनी चाहिए। वे दिन भर छोटी और महत्वहीन चीज़ों के बारे में बात करना पसंद नहीं करते। उनके जीवन के लक्ष्य बहुत बड़े होते हैं।

आप आसानी से इनका नेतृत्व कर सकते/सकती हैं।

अधिकंश लोग जो कम बोलते हैं वो तब आरामदायक महसूस करते हैं जब उनके साथी उनका नेतृत्व करते हैं या जब उनके आसपास कोई नटखट व्यक्ति उपस्थित हो। उन्हें अपने अंतर्मुखी स्वभाव को संतुलित करने के लिए किसी चुलबुले, विचित्र, अभिव्यंजक की आवश्यकता होती है। संक्षेप में केवल इसलिए कि वे बात नहीं करते इसका यह अर्थ नहीं है कि उन्हें आपसे आपके जीवन के बारे में बात करना पसंद नहीं है।