इन चार तरीक़ों से निपटें शादी कैंसल होने के दुख से ….
August 20th, 2020 | Post by :- | 217 Views

आप महीनों से अपनी शादी की प्लैनिंग कर रही थीं. सारी तैयारियां हो चुकी थीं. पर अंतिम समय पर कोरोना महामारी के चलते आपकी शादी कैंसल हो गई. अगली डेट अभी तक तय नहीं हो पाई है. ज़ाहिर है आप बेहद दुखी होंगी. शादी कैंसल होने से आपको इमोशनल ही नहीं फ़ाइनैंशियल नुक़सान भी पहुंचा होगा. पर मौजूदा स्थिति को देखते हुए शादी कैंसल करने के अलावा कोई चारा भी तो नहीं था. पर दुखी रहने से तो काम नहीं बनने वाला है, आइए इस स्थिति से बाहर निकलने के रास्ते तलाशते हैं.


1. सेहत पर ध्यान दें
इस मुश्क़िल वक़्त में आपको अपना पूरा ध्यान अपनी सेहत पर देना चाहिए. अच्छा खाएं और भरपूर नींद लेने की कोशिश करें. अपनी फ़िटनेस रूटीन को दुरुस्त रखें. जैसे ही कोरोना का ज़ोर ख़त्म होगा शादी की नई तारीख़ आ ही जाएगी. परिवार के साथ समय बिताएं. कोरोना वायरस के फैलाव के दौरान आपको अकेले नहीं रहना चाहिए. ऐसा करने से आपको मानसिक और शारीरिक रूप से फ़िट बने रहने में मदद मिलेगी.

2. लोगों से जुड़ी रहें
सोशल मीडिया के माध्यम से अपने दूर के दोस्तों और रिश्तेदारों से जुड़ी रहें. अपने भावी पति से भी फ़ोन और इंटरनेट के ज़रिए बातचीत करती रहें. आप दोनों का दुख साझा है. आप एक-दूसरे की भावनाओं को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं. आप बताएं कि इस पूरे माहौल में कैसा फ़ील कर रहीर हैं. एक-दूजे को आश्वस्त करें कि यह दौर बीत जाएगा. वैसे आपको अप्रत्यक्ष रूप से कोरोना का शुक्रगुज़ार होना होगा, जो शादी के पहले एक-दूसरे को समझने का थोड़ा और मौक़ा मिल गया.

3. अपने वेडिंग प्लैनर के संपर्क में बनी रहें
बेशक, अचानक शादी कैंसल हो जाने से आपका काफ़ी आर्थिक नुक़सान हो चुका है. पर पैनिक मत होइए. अपने वेडिंग प्लैनर के संपर्क में बनी रहें. क्राइसिस के इस समय में वेंडर्स अपनी सेवाओं को लेकर फ़्लैक्सिबल होंगे. जैसे ही माहौल सामान्य होगा आप अपनी सुविधा के अनुसार डेट बताएं और डिस्कशन के बाद उसी ख़र्च या थोड़े कम-ज़्यादा में शादी का अरेंजमेंट हो जाएगा. अगर आप प्लैनर से टच में रहेंगी तो हो सकता है आपको ज़रा भी अतिरिक्त ख़र्च न करना पड़े.

4. गॉसिप्स को नज़रअंदाज़ करें
शादी कैंसल होना या पोस्पॉन होना को हमारे समाज में अशुभ माना जाता है. भले ही सब शादी के कैंसल होने की सिचुएशन से भली प्रकार से वाक़िफ़ होंगे, पर कुछ रिश्तेदार होंगे जो अपनी नकारात्मक टिप्पणी से बाज़ नहीं आएंगे. आपको इस तरह की बातों के लिए मानसिक रूप से तैयार रहना होगा. सबसे अच्छा तो यह होगा कि आप इन अगोनी आंट्स की ओर ध्यान ही न दें.