ओव्यूलेशन के दौरान गर्भधारण की संभावना को कैसे बढ़ाएं
November 28th, 2020 | Post by :- | 160 Views

गर्भधारण करने से पहले आपको इससे जुड़ी सभी बातों के बारे में जानकारी होना जरुरी होता है। साथ ही खुद को शारीरिक और मानसिक रुप से तैयार करना होता है। ओव्यूलेशन के दौरान गर्भधारण करना सबसे बेहतर विकल्प होता है। महीने का यह समय गर्भधारण करने के लिए ठीक होता है। कुछ कपल ओव्यूलेशन के दौरान यौन संबंध बनाने से डरते हैं क्योंकि इस समय कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। ओव्यूलेशन वह समय होता है जब मासिक धर्म से पहले ओवरी से अंडा रिलीज होता है। जिन महिलाओं की मासिक अवधि 28 दिन की होती है वह पीरियड्स के 12-21 पहले आसानी से गर्भधारण कर सकती है। तो आइए आपको बताते हैं कि ओव्यूलेशन के दौरान गर्भधारण करने की संभावना को कैसे बढ़ाएं।

ओव्यूलेशन साइकल के बारे में ध्यान रखना: जल्दी गर्भधारण करने के लिए ओव्यूलेशन साइकल के बारे में पता होना जरुरी होता है। जिस तरह से मेंसट्रुअल साइकल हर महिला पर निर्भर करती है। ठीक उसी तरह ओव्यूलेशन साइकल भी हर महिला पर निर्भर करती है। आपको अपनी ओव्यूलेशन की गणना करना जरुरी होता है। इसके लिए आप ओव्यूलेशन किट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सही समय पर यौन संबंध बनाएं: ओव्यूलेशन के दौरान यौन संबंध बनाने से गर्भधारण करने की संभावना बढ़ जाती है। सभी दिन फर्टाइल नहीं होते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि महिलाओं के शरीर में 3 दिन तक शुक्राणु सक्रिय रह सकते हैं। और अंडा 24 घंटे तक जीवित रह सकता है। ओव्यूलेशन के 3 दिन पहले यौन संबंध बनाने से गर्भधारण की संभावना ज्यादा होती है।

वेजाइनल म्यूकस में बदलाव के बारे में जाने: आपको वेजाइनल म्यूकस में होने वाले बदलावों पर ध्यान देना चाहिए। जब आप अंडे की तरह सफेद, साफ और स्टिकी म्यूकस रिलीज करने लगती हैं तो यह सही समय होता है। इस दौरान गर्भधारण के सकारात्मक परिणाम मिलते हैं।

तनाव ना लें: ओव्यूलेशन के दौरान आसानी से गर्भधारण करने के लिए आपको तनाव से दूर रहना चाहिए। तनाव की वजह से हार्मोन असंतुलित हो सकते हैं जिसका असर ओव्यूलेशन और मेंसट्रुअल साइकल पर पड़ता है।

बुरी आदतों को छोड़ दें: अगर आपको एल्कोहल और धूम्रपान का सेवन करनी की बुरी आदत है तो इसे छोड़ दें। अगर आप गर्भधारण करने की सोच रहे हैं तो इन आदतों को 3-4 महीने पहले छोड़ दें। धूम्रपान और एल्कोहल आपके शरीर और फर्टिलिटी को प्रभावित करते हैं। इसलिए बहेतर होगा कि इन आदतों को छोड़ दें।