स्पर्श के ज़रिए कीजिए, अपने पार्टनर से बात
December 11th, 2020 | Post by :- | 62 Views

कभी-कभी दिनभर का तनाव व थकावट आप पर इस कदर हावी हो जाता है कि आप अपने पार्टनर के साथ सेक्स के मूड में नहीं होते. ऐसे में एक-दूसरे की पीठ की मसाज तनाव कम करती है और शरीर के सभी ज़रूरी हिस्सों में रक्त संचार को बेहतर बनाती है. यहां दिए जा रहे आसान टिप्स अपनाएं और फिर देखें कमाल.

माहौल बनाएं
आरामदेह और शांत माहौल आप दोनों के मूड को दुरुस्त करेगा. इसलिए रौशनी हल्की करें, मन-पसंद संगीत लगाएं और एरोमेटिक एसेंशियल ऑयल्स तैयार रखें.

धीमे-धीमे बढ़ें
धीमे-धीमे उन्हें स्पर्श का एहसास कराएं. उनकी उत्तेजना बढ़ेगी. वैसे भी मसाज में जल्दबाज़ी से आनंद की अनुभूति नहीं होती, ख़ासकर तब, जब एक ख़ास तरह के स्पर्श का अहसास कराना हो. इसलिए पार्टनर को स्पर्श करते समय उनकी प्रतिक्रिया का जायज़ा लें और स्पर्श को धीमा और हल्का रखें.

स्पर्श के ज़रिए बात
सेक्सोलॉजिस्ट डॉ प्रकाश नानालाल कोठारी कहते हैं,‘‘त्वचा शरीर का सबसे बड़ा सेंशुअल हिस्सा है.’’ वे बताते हैं कि स्पर्श के समय हमारी त्वचा ऑक्सिटोसिन हार्मोन रिलीज़ करती है, जिसे लव हार्मोन भी कहते हैं. ‘‘जब दंपति  एक शारीरिक समीपता जैसी स्थिति में पहुंचते हैं, तो वे एक-दूसरे को संकेत देते हैं कि वे शरीर के किस हिस्से पर स्पर्श चाहते हैं.’’ इसलिए अपने पार्टनर के शरीर की भाषा समझें और हल्के-हल्के उनके कंधे व बांह की मालिश करें. उनकी पीठ या फिर गर्दन के पीछे की ओर गोलाकार मालिश करें. फिर पैर की ओर आएं. हल्का-सा टीज़ करें और धीरे-धीरे ज़्यादा नाज़ुक हिस्सों पर फोकस करें. कुछ ही पलों में आपको उनके रोमांच से भरने का एहसास होगा.

ध्यान से सुनें
कलाई, उंगली, कान, गर्दन के पीछे का हिस्सा, और ‌कुहनी व घुटने के पीछे जैसे नर्व्स की अधिकता वाले हिस्सों पर फोकस करें. किस या मसाज के ज़रिए इनमें हलचल पैदा करें. आपके पार्टनर को यह अच्छा लगेगा, क्योंकि सेक्स के दौरान अक्सर ये अंग उपेक्षित रह जाते हैं. 31 साल की श्रुति रमन* बताती हैं,‘‘शुरू में जब मेरे बॉयफ्रेंड ने मालिश शुरू की तो मैं इतनी थकी हुई थी कि कोई प्रतिक्रिया ही नहीं दे पाई. लेकिन, धीरे-धीरे मेरा शरीर आराम महसूस करने लगा. चूंकि उसे मेरे शरीर के सभी संवेदनशील हिस्सों की जानकारी थी, इसलिए जल्द बात बनने लगी.”

इस ओर भी ध्यान दें
मालिश के लिए अरोमा थेरैपी ऑयल्स इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन शुद्ध एसेंशियल ऑयल्स इतने तेज़ होते हैं कि रक्त-धमनियों में प्रवेश कर सकते हैं. इसलिए इन्हें जोजोबा, नारियल या बादाम के तेल के साथ डाइल्यूट करें. 27 साल की लीला अमन* कहती हैं,‘‘मुझे अच्छा लगता है, जब मेरे पति मसाज के लिए बने खास सेंशुअल ऑयल्स प्रयोग करते हैं. इनका सिरहन पैदा करने वाला प्रभाव पूरे अनुभव को बेहतर बना देता है.’’ वैसे तो ज़्यादातर लोगों को लैवेंडर व ‌पेपरमिंट ऑयल से दिक़्क़त नहीं होती. फिर भी यदि आप गर्भवती हैं, तो एकबार डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें.

हॉट स्पॉट्स
अगर आप समझ नहीं पा रही हैं कि कहां से शुरू करें तो यहां बताएं जा रहे कुछ हिस्सों पर ख़ास ध्यान दें.
हाथ: उनकी हथेलियों पर हल्के से उंगलियां फिराएं.
पीठ: रीढ़ के निचले हिस्से पर प्यार से स्पर्श करें. ऐसा करना उन्हें अच्छा लगेगा.
ऐब्स: ऐब्स की मांसपेशियां आपकी वेजाइनल मसल्स से जुड़ी होती हैं. इस हिस्से पर हल्की-सी मसाज आपको रोमांचित कर सकती है.
ब्रेस्ट: यदि आप मालिश करा रही हैं, तो पार्टनर से आपके ब्रेस्ट के ऊपर और बगल के हिस्से पर मालिश को कहें. आपको सिरहन महसूस होगी.
कूल्हों के पासः कूल्हों और जांघों के बीच की पतली लाइन में ढेरों नर्व्स होती हैं. इस वजह से यह काफ़ी संवेदनशील हिस्सा होता है.
पैर: क्या आपको मालूम है कि किसी के टखने को छूने और चूमने उसे ऑर्गेज्म की प्राप्ति हो सकती है? तो क्यों न शुरुआत कर दी जाए!
* आग्रह पर नाम बदले गए हैं