क्या आपका पार्टनर सैपियोसेक्शुअल है? पर सैपियोसेक्शुअल मतलब क्या होता है?
August 23rd, 2020 | Post by :- | 109 Views

हेडिंग पढ़कर आप सोच रहे होंगे पार्टनर सैपियोसेक्शुअल है या नहीं, यह आर्टिकल इंट्रेस्टिंग तो लग रहा है, पर आख़िर यह सैपियोसेक्शुअल क्या बला है? यक़ीन मानिए जब यह आर्टिकल ट्रान्स्लेट करने गए तो हमने भी सबसे पहले जाकर गूगल पर इस शब्द का मतलब देखा. सैपियोसेक्शुअल वे लोग होते हैं, जो केवल पार्टनर के आकर्षक रूप-रंग और सुडौल शरीर से ही आकर्षित नहीं होते, बल्कि उन्हें अपने आकर्षण में बांधने के लिए पार्टनर का बुद्धिमान होना भी उतना ही ज़रूरी होता है. वैसे आपने सुना तो होगा ही कि पूरी दुनिया में सबसे सेक्सी इंसान का दिमाग़ है. और इस बात पर अपनी मुहर लगाते हैं सैपियोसेक्शुअल लोग. पुणे के जानेमाने लाइफ़ लीडरशिप कोच डॉ पारस कहते हैं,‘‘सैपियोसेक्शुअल लोग स्मार्ट और बुद्धिमान लोगों के प्रति सेक्शुअली झुकाव महसूस करते हैं.’’ तो आइए जानते हैं, क्या आपका कभी सैपियोसेक्शुअल लोगों से पाला पड़ा है? कैसे पहचानें कि कहीं आपका पार्टनर सैपियोसेक्शुअल तो नहीं?

पहला संकेत: ऐसे लोग सतही बातचीत में रुचि नहीं लेते
सैपियोसेक्शुअल लोगों को किसी मुद्दे पर होनेवाली बेहद सतही बातचीत से चिढ़ होती है. वे गंभीर मुद्दों पर हर ऐंगल से चर्चा करना चाहते हैं. वे स्मार्ट और गहन बातचीत पर यक़ीन रखते हैं. वे सुनी-सुनाई बातों पर विश्वास नहीं करते. वे हर चीज़ को नए ऐंगल से देखते हैं. अगर आपका पार्टनर आपको चीज़ों को एनलाइज़ करने के लिए प्रेरित करे और विभिन्न मुद्दों पर गहराई से सोचने कहे तो समझ जाइए आपके साथ एक सैपियोसेक्शुअल है.

दूसरा संकेत: बहुत कुछ कहता है तारीफ़ करने का उसका तरीक़ा
क्या आपका डेट आपकी बाहरी ख़ूबसूरती के बजाय दिमाग़ की तारीफ़ करता है, ख़ासकर जब आप कुछ बेहद स्मार्ट और दिमाग़दार काम करते हैं तो उसकर तारीफ़ मिलती है तो समझ जाइए वह औरों से अलग है. क्या वह अक्सर आपसे कहता है कि उसे आपके सोचने का तरीक़ा पसंद है? तो बात साफ़ है उसके लिए इंटेलिजेंस ही सबकुछ है.

तीसरा संकेत: वह बातचीत करने में माहिर है
सैपियोसेक्शुअल लोग बातचीत करने में औरों की तुलना में कई गुना बेहतर होते हैं. वे पार्टनर भी ऐसा ही चुनना चाहते हैं, जो उन्हीं की तरह बातचीत के मामले में प्रवीण हो. वे अक्सर यह स्वीकार करते हैं कि उन्हें पार्टनर द्वारा लिखे गए अच्छे मैसेज, बढ़िया सोशल मीडिया पोस्ट्स उत्तेजित करते हैं. वे टाइपो एरर वाले और ग्रैटिक ग़लतियों वाले मैसेज पसंद नहीं करते.

चौथा संकेत: वे बुद्धिमान लोगों से दोस्ती करते हैं
आपने कभी अपने पार्टनर के दोस्तों की सूची पर नज़र डाला है? अगर उनके ज़्यादातर दोस्त बुद्धिजीवी तबके से आते हैं तो वह ज़ाहिर तौर पर सैपियोसेक्शुअल है. ऐसे लोग न केवल स्मार्ट पार्टनर चाहते हैं, बल्कि अपने दोस्त चुनने में भी इसी बात को वरीयता देते हैं. डॉ पारस कहते हैं,‘‘अमूमन ऐसे बुद्धिमान लोगों की तलाश करनेवालों के साथ निभा पाना आसान नहीं होता, पर अगर आप भी इसी कैटेगरी में आते हैं तो आप दोनों की अच्छी निभ जाएगी.’’