5 आदतें, जो आपको सफल निवेशक बना देंगी ….
September 1st, 2020 | Post by :- | 143 Views

आपने कई जगह पढ़ा होगा, सफल होना एक आदत है. इसे दूसरे शब्दों में कहें तो हमारी आदतें हमें सफल या असफल बनाती हैं. यही बात इन्वेस्टमेंट यानी निवेश पर भी लागू होती है. एक सफल निवेशक बनने के लिए आपको फ़ायनांस या इकोनॉमिक्स में ग्रैजुएट होने की ज़रूरत नहीं है. बल्कि आपको महज़ थोड़ा स्मार्ट बनने की ज़रूरत है. यह स्मार्टनेस आती है इस बात की समझ से कि आपको अपना पैसा बेहतर रिटर्न के लिए कहां निवेश करना होगा. और यह समझ विकसित होती है, यहां बताई जा रही निवेश से जुड़ी 5 आदतों से.

आदत # 1: धैर्य रखें 

जो लोग निवेश के मामले में गच्चा खा जाते हैं, दरअस्ल उनकी सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि वे बेहद उतावले यानी अधीर होते हैं. जबकि इन्वेस्टमेंट का पहला रूल यही है कि इसकी दीर्घकालीन रणनीति बनानी चाहिए. रातों-रात कोई निवेशक अमीर नहीं बन जाता. एक सफल निवेशक बनने के लिए आपको पता होना चाहिए कि स्टॉक मार्केट रोज़ाना उतार-चढ़ाव का सामना करता रहता है. शॉर्ट टर्म में होनेवाले परिवर्तनों को लेकर बहुत ज़्यादा परेशान होने की ज़रूरत नहीं है.

इस क्षेत्र में सफलता का सूत्र यही है कि मार्केट चाहे ऊपर जा रहा हो या नीचे, आपको हमेशा इन्वेस्ट करते रहना चाहिए. अपने लिए स्मार्ट गोल्स सेट करना चाहिए. गोल सेट होने से आप फ़ोकस्ड रहोगे और बाज़ार के रोज़ाना के उतार-चढ़ाव से अप्रभावित भी.

आदत # 2: मदद मांगने से हिचकिचाएं नहीं 

एक अच्छे निवेशक को ज़रूरत पड़ने पर प्रोफ़ेशनल्स की मदद लेने में हिचकिचाना नहीं चाहिए, ख़ासकर जब बात मनी मैनेजमेंट की हो. अपनी ज़रूरतों के हिसाब से रणनीति बनाने के लिए आपको फ़ायनैंशियल एड्वाइज़र से सलाह लेनी चाहिए. यह एक ऐसा समय है जहां सूचनाओं की अधिकता की वजह से कन्फ़्यूज़न भी काफ़ी होता है. तो अगर आप सूचनाओं के दोराहे पर हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपकी मदद के लिए कई फ़ायनैंशियल एक्सपर्ट्स मौजूद हैं. टैक्स प्लैनिंग से लेकर पोर्टफ़ोलियो मैनेजमेंट तक… जहां भी आपकी गाड़ी फंसे, मदद के लिए विशेषज्ञों का रुख़ करें. इससे न केवल आपकी माथापच्ची कम होगी, बल्कि समय बचेगा और लॉन्गटर्म में फ़ायदा भी होगा.

आदत # 3: निवेश के मामले में इमोशनल होकर फ़ैसले न करें

अच्छा निवेशक कैसे बना जाए? गूगल पर पूछे जानेवाले सवालों की टॉप फ़ेहरिस्त में यह भी शामिल है. इसके कई जवाब हैं, इसके कई टिप्स हैं. एक टिप यह भी है कि निवेश के मामले में कभी इमोशनल होकर फ़ैसला न करें. आप अच्छे निवेशक बनना चाहते हैं तो भावनाओं को बगल में रख देना चाहिए. स्मार्ट निवेशक जल्दबाज़ी में फ़ैसले नहीं करते, वे अक्सर अपने पैसों को जहां है, वहीं रहने देते हैं. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि उन्हें अपनी इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटेजी पर भरोसा होता है. एक निवेश को हमेशा दीर्घकालीन योजना बनाकर निवेश करना चाहिए. उसे बाज़ार में जारी शॉर्ट टर्म उठा-पटक से अप्रभावित रहना चाहिए. जल्दबाज़ी और डर जैसे इमोशन उसकी डिक्शनरी में नहीं होने चाहिए.

आदत # 4: हमेशा जिज्ञासू बने रहें 

एक सफल निवेशक को पता होता है कि उसने कहां अपने पैसे लगाए हैं और मार्केट में होनेवाली उठा-पटक से उसका पोर्टफ़ोलियो किस तरह प्रभावित होनेवाला है. अगर आप किसी फ़ायनैंशियल एक्सपर्ट की मदद ले रहे हों तो आपको इन्वेस्टमेंट से पहले आपके मन में जितने भी तरह के सवाल आ रहे हों, उससे पूछने चाहिए. बतौर निवेशक आपको अपने निवेश से जुड़े ख़तरों के बारे में पता होना चाहिए. आपको निवेश के अपने लक्ष्य के बारे में पता होना चाहिए. इससे आपके निवेश का रोडमैप तैयार करने में आसानी होती है. और अंतत: लक्ष्य को पाने में मदद मिलती है. अगर आपके फ़ायनैंशियल प्लान्स पुराने हो गए हैं तो उन्हें अपडेट कर लेना चहिए. इससे दीर्घकालीन लक्ष्य को पाने की राह आसान होती है.

आदत # 5: निवेश के मामले में अनुशासित रहें  

अपने निवेश से बड़ा लाभ हासिल करने के लिए समय लगता है. समय-समय पर निवेश करके आप बचत भी कर सकते है. अपने इन्वेस्टमेंट पोर्टफ़ोलियो में नियमित कॉन्ट्रिब्यूशन करते रहें. इसके अलावा आपको अपने निवेश को डायवर्सिफ़ाई करना चाहिए. अगर आपने केवल तीन या चार कंपनियों में ही निवेश किया है तो आप बहुत ज़्यादा पैसे नहीं कमा सकते. सफल होने के लिए आपको अलग-अलग सेगमेंट्स में स्मार्टली निवेश करना चाहिए. इससे ख़तरा तो कम होता ही है, आपके सफल निवेशक बनने की संभावना बढ़ जाती है. अपने फ़ायनैंशियल लक्ष्यों को पाने के लिए हमें लगातार निवेश करते रहना चाहिए. सही रणनीति बनाकर आप अपने फ़ायनैंशियल टार्गेट्स को पा सकते हैं.

उम्मीद है ऊपर बताई गई ये पांच आदतें आप अपने अंदर डालना जल्द से जल्द शुरू कर देंगे.