क्या होता है तांत्रिक सेक्स?
September 4th, 2020 | Post by :- | 162 Views

लोकप्रिय मान्यता के विपरीत तांत्रिक सेक्स, सेक्स से संबंधित कोई अनूठी गतिविधि नहीं है. तांत्रिक सेक्स का मौलिक लक्ष्य है कि इसमें सिवाय अपने पार्टनर को आध्यात्मिक और गहरे तरीक़े से समझने के अलावा कोई और गतिविधि न हो. ऑर्गैज़्म (चरम) पाना भी इसकी प्राथमिकता नहीं है, बल्कि इसमें व्यक्तिगत रिश्ते को मज़बूत बनाने के लिए एक-दूसरे को गहराई से जानने और आनंददायक अंतरंग रिश्ता बनाने पर ज़ोर दिया जाता है.

ज़्यादा समय की ज़रूरत होगी
तांत्रिक सेक्स का यह मतलब नहीं है कि आप घंटों प्यार करें. ‘‘इसके बजाय इसका आधार ये है कि आपके भीतर अपने पार्टनर के प्रति अगाध श्रद्धा हो,’’ कहना है मार्क ए माइकल्स और पैट्रिशिया जॉन्सन का-अपनी किताब तांत्रिक सेक्स मेड सिंपल में. इसका अर्थ यह है कि जब आप अपने पार्टनर के साथ सेक्शुअल संबंध बना रहे हों तो केवल उसके ही साथ होने और रहने की कल्पना भी आपके मन-मस्तिष्क में छाई हो.

लचीले रवैये की ज़रूरत होगी
तांत्रिक सेक्स का मक़सद पुरुष को शारीरिक, मानसिक और आत्मा के स्तर तक तृप्त करना है. इसे आप तब अपनी सांस को नियंत्रित करके प्राप्त कर सकते हैं, जबकि आपका पार्टनर भी अपनी सांस को नियंत्रित कर रहा हो. ऐसी अवस्था में एक-दूसरे की ओर देखते हुए, सेक्शुअल प्रक्रिया को कुछ ख़ास तरीक़ों से यूं करें कि यह सत्र लंबे समय तक चले. इसका मक़सद आपके ऑर्गैज़्म में देरी करके संपूर्ण आनंद देना ही नहीं है, बल्कि इसका मक़सद है आपको अपने पार्टनर के इतने क़रीब ले आना कि आप उसके शरीर को और भी बेहतर ढंग से समझ सकें. तांत्रिक सेक्स की पद्धति, सेक्स की तकनीक और सेक्स की मानसिक पद्धति से भी कहीं आगे के स्तर की है. तांत्रिक सेक्स का कठिन सेक्शुअल पोज़िशन्स (मुद्राओं) से कोई लेना-देना नहीं है. ‘‘ऐसी आसान-सी पोज़िशन्स, जिससे आप दोनों को संतुष्टि मिले और आप उसका आनंद ले सकें. जिससे सेक्स की प्रक्रिया लंबी चले और सेक्शुअल संतुष्टि का स्तर भी ऊंचा रहे,’’ कहना है दिल्ली के सेक्सोलॉजिस्ट डॉ विनोद रैना का.

विचित्रता पसंद करनेवाले लोगों के लिए है
अपनी किताब में मार्क और पैट्रिशिया कहते हैं,‘‘किसी और चीज़ के बजाय तांत्रिक सेक्स का संबंध आपके दृष्टिकोण से ज़्यादा है. अत: इसके लिए केवल आपकी सोच में बदलाव की ही ज़रूरत होती है.’’ ज़्यादातर भारतीय महिलाओं को तांत्रिक सेक्स के बारे में मालूमात ही नहीं हैं और जिन्हें हैं वे भी इसके बारे में कोई सकारात्मक या अच्छी राय नहीं रखती हैं. आर्किटेक्ट हेतल पुनारी कहती हैं,‘‘मुझे तो तांत्रिक सेक्स एक पहेलीनुमा-सी चीज़ लगती है.’’ वे आगे कहती हैं,‘‘मैंने इसे केवल इसलिए नहीं आज़माया है, क्योंकि मैं इसे लेकर पूरी तरह आश्वस्त नहीं हूं. शायद जब मुझे इसकी पूरी और सही जानकारी मिलेगी, मैं इसे आज़माना चाहूंगी.’’

यूं आज़माएं तांत्रिक सेक्स

डॉ उत्तम दवे, सेक्स सलाहकार, मुंबई, तांत्रिक सेक्स के लिए आवश्यक चीज़ों के बारे में बता रहे हैं:

* एक अंधेरे कमरे या मोमबत्ती के मद्धम प्रकाश के बीच आप दोनों आरामदायक तकियों के बीच एक-दूसरे के बेहद क़रीब बैठें.

* एक-दूसरे की आंखों में गहराई से झांकें, कुछ इस तरह, जैसे आप उन्हें बताना चाहते हों कि वो एक बेहतरीन पार्टनर हैं.

* एक-दूसरे से तालमेल बनाते हुए समान गति से सांस लें.

* अपने हाथ उनके शरीर से दो इंच की दूरी पर रखें और उनके शरीर से निकल रही ऊर्जा को स्वीकार करें. फिर आप दोनों इस ऊर्जा का धीरे-धीरे आदान-प्रदान करें. इसके बाद सामान्य सेक्शुअल गतिविधियों की शुरुआत करें.