कैसे पहचाने आपकी लव लाइफ का डिटैक्‍टिव बनकर रिश्‍ते में दरार डाल रहा है आपका अपना ही दोस्‍त
September 6th, 2020 | Post by :- | 224 Views

कहते हैं रिश्‍तों को बनाने में कई साल लग जाते हैं। जहां आप विश्‍वास और प्‍यार से अपने रिश्‍ते की नीव को सींचते हैं और उसे मजबूत बनाते हैं। अब वह रिश्‍ता प्‍यार का हो या फिर दोस्‍ती का, दोनों ही एक कड़ी मेहनत के बाद इतने मजबूत बनते हैं। आप अपने रिश्‍तों को मजबूत बनाने के लिए उन पर अपना कीमती समय लगाते हैं, लेकिन जब वही रिश्‍ते या वही लोग आपको धोखा दे जाएं या आपको नुकसान पहुंचा जाएं तो? आपको काफी बुरा और दर्द महसूस हो सकता है। आइए यहां हम आपको रिलेशनशिप के इस लेख में ऐसे फेक रिश्‍तों के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी जिंदगी को तबाह कर जाते हैं और आपको पता भी नहीं चलता। जी हां, यहां कुछ ऐसे करीबियों या दोस्‍तों को पहचानने के संकेत हैं, जो आपकी लवलाइफ में डिटैक्‍टिव बनकर आपको दुश्‍मन से भी ज्‍यादा नुकसान पहुंचा जाते हैं।

आपसे व आपके रिश्ते से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बात जानना

हालांकि यह सामान्‍य बात है कि हमारे करीबी दोस्‍तों को हमारे व हमारी लव-लाइफ के बारे में लगभग बातें पता होती हैं। लेकिन कुछ ऐसी बातें होती हैं, जो हमारी पर्सनल या लव लाइफ से जुड़ी होती हैं और उनके बारे में केवल हमे या किसी बहुत खास को ही पता होता है। जब आप कुछ चीजें कल्‍पना भी नहीं करते कि आपके दोस्‍त को पता होंगी और उसे पता होती हैं और वह उनका गलत जगह या गलत तरीके से इस्‍तेमाल करता है, तो समझ लें वह आपका सच्‍चा दोस्‍त नहीं। ऐसे डिटैक्टिव दोस्‍त आपकी बातों का गलत इस्‍तेमाल कर आपकी लाइफ या रिश्‍ते को बर्बाद करते हैं। वह आपकी लवलाइफ में परेशानियों का कारण बन सकते हैं। सच्‍चा या अच्‍छा दोस्‍त वो होता है, जो दोस्‍त की गलतियों को भी छुपाए, उसके भले-बुरे को देखते हुए बातें करे। इस तरह की सीक्रेट इंफॉरमेशन से वह आपके बाकि करीबी रिश्‍तों को भी खराब कर सकता है।

आपके निर्णय खुद से ले लेना

दोस्‍तों, परिवार और करीबियों में ऐसा होता है कि हम किसी निर्णय को लेने से पहले एक-दूसरे से पूछें या राय लें। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि हमारे पर्सनल फैसले हमारा दोस्‍त ले ले। यदि आप ऐसी क्‍वालिटी अपने दोस्‍त में देखते हैं, तो यह एक संकेत हो सकता है कि वह आपको और आपकी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को तबाह कर सकता है। क्‍योंकि वह आपकी पीठ पीछे कभी भी आपकी सहमती, असहमती या आपकी राय अपनी तरफ से व्‍यक्‍त कर सकते हैं। इसके अलावा, वह आपकी पीठ पीछे आपकी तरफ से कोई मैसेज कर करता है या फिर आपका फोन चैैैक करता है, तो वह दोस्‍त नहीं गद्दार है।

आपको नीचा महसूस करवाना और आप पर फीलिंग्‍स को आप पर थोपना

हालांकि हम सबकी लाइफ में दोस्‍ती की जगह काफी बड़ी होती है। दोस्‍ती को प्‍यार से ऊपर माना जाता है, इसलिए कि दोस्‍त हमें हमेशा सही राह दिखाते हैं। हमारी बड़ी से बड़ी गलती होने पर भी दोस्‍त कभी हमें जज नहीं करते हैं। लेकिन जहां आपको ऐसा महसूस होता है कि आपको कोई दोस्‍त जानबूझर आपको गलत और नीचा दिखाने की कोशिश कर रहा है, वह आपक सच्‍चा मित्र कभी नहीं हो सकता। भले ही वह किसी के सामने आपको गलत न ठहराए, लेकिन सच्‍चा दोस्‍त आपको कभी अकेले में भी नीचा या गलत नहीं ठहराएगा। वह आपको समझाएगा, आपकी परेशानियों का हल निकालेगा और आपको सही राह दिखाएंगा। वह इस बात की परवाह नहीं करेगा कि दुनिया क्‍या सोचती है, वह सिर्फ आपकी परवाह और आपका भला-बुरा सोचेगा।

ऐसे डिटैक्टिव दोस्‍त, जो आपको अच्‍छे से समझते हैं और उन्‍हें आपके बारे में सब पता है, वह आपका गलत फायदा भी उठा सकते हैं। जिसमें वह आपकी लव लाइफ में परेशानियां पैदा कर सकते हैं और आपके रिश्‍तों को भी बर्बाद कर सकते हैं। इसलिए ऐसे दोस्‍त बनाएं, जो विश्‍वास के काबिल हों, दोस्‍त कम हों लेकिन अच्‍छे हों।