Weight gain during menopause: मेनोपॉज के दौरान वजन बढ़ने के क्या कारण होते हैं
September 9th, 2020 | Post by :- | 136 Views

Weight gain during menopause: मेनोपॉज के दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के बदलाव होते हैं। मेनोपॉज के दौरान तेजी से वजन बढ़ने की समस्या का भी महिलाओं को सामना करना पड़ता है। आपके मन में भी यह सवाल होगा की मेनोपॉज के कारण वजन क्यों बढ़ जाता है। मेनोपॉज की अवस्था आने से कुछ समय पहले ही वजन बढ़ने की परेशानी पैदा हो जाती है। आइए जानते हैं कि मेनोपॉज के दौरान वजन बढ़ने के क्या कारण होते हैं।

 Weight gain during menopause: मेनोपॉज के दौरान वजन क्यों बढ़ जाता है

  • एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम हो जाने से
  • भूख बढ़ जाती है
  • ऊर्जा की खपत नहीं हो पाती है
  • तनाव

1.एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर कम हो जाने से- 
महिलाओं के शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फैट बांटने के लिए एस्ट्रोजन काफी लाभकारी होता है। लेकिन मेनोपॉज के दौरान इसका स्तर कम हो जाता है जिससे फैट शरीर में ही जमा होने लगता है और मोटापा बढ़ जाता है।

2. भूख बढ़ जाती है-
मेनोपॉज के दौरान होने वाले हार्मोन परिवर्तन के कारण आपकी भूख भी बढ़ जाती है। एस्ट्रोजन का स्तर कम होने के कारण आपको बार-बार भूख लगती है जिससे आप जरुरत से ज्यादा खाती है और 5-6 महीनों में अधिक वजन बढ़ा लेती हैं।

3. ऊर्जा की खपत नहीं हो पाती है-
खाना ऊर्जा में बदलता है और ऊर्जा की पूरी खपत ना होने के कारण मोटापा बढ़ने लग जाता है। इस उम्र में बहुत सी महिलाएं शरीर पर ध्यान नहीं देती है और योगा व एक्सरसाइज नहीं करती है। ऊर्जा की खपन ना होने से मोटापा बढ़ने लगता है।

4.तनाव-

तनाव वजन बढ़ने का एक मुख्य कारण होता है। मेनोपॉज के दौरान हार्मोन्स में बदलाव के कारण तनाव पैदा हो जाता है जिससे बेवजह तनाव बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है।