खराब रिश्‍ते भी आपकी सेहत पर डालते हैं बुरा असर, होते हैं ये 7 दुष्‍परिणाम – Love Romance
September 22nd, 2020 | Post by :- | 185 Views

आपका शारीरिक स्वास्थ्य आपके मानसिक स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। यदि आप का मन खुश है, तो निश्चित ही आप शारीरिक तौर पर भी स्वस्थ रहेंगे। लेकिन इसके विपरीत यदि आपका मन ही खुश नहीं है तो इसका प्रभाव आपके चेहरे और शरीर पर दिखेगा। शोध बताते हैं कि  मजबूत साझेदारी हमें बीमारी से बचने, स्वस्थ आदतों को अपनाने और यहां तक कि लंबे समय तक जीने में मदद कर सकती है। दूसरी ओर, परेशान रिश्ते, तनाव बढ़ाते हैं और खुशियां कम करते हैं व प्रतिरक्षा को कमजोर करते हैं।

वजन बढ़ना (Weight gain)

यदि आप के रिश्तों में तनाव है तो यह आपकी सेहत के लिए हानिकारक है। कई बार हम तनाव की वजह से इतना उलझ जाते हैं कि समय पर न कुछ खाते हैं न ही पीते हैं या इसके विपरीत ज्यादा तली भुनी, कैलोरी वाली चीजें खाने लगते हैं, और वजन एकदम से बढ़ता है। हम अंदाजा ही नहीं लगा पाते कि जाने-अनजाने कितनी कैलोरीज खा रहे हैं। जिसकी वजह से हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म भी बाधित हो जाता है।

स्ट्रेस लेना (Stress levels)

यदि आपके रिश्ते में हर रोज लड़ाई झगड़े होते हैं तो इसका प्रभाव भी आपके स्वास्थ्य पर पड़ेगा। आपकी सेक्स लाइफ भी संतोषजनक नहीं होगी। शोध बताते हैं कि जो लोग रेगुलरली सेक्स करते हैं उनको दूसरों के मुकाबले अपेक्षाकृत तनाव कम रहता है और एक बेहतर लाइफस्टाइल जी पाते हैं। स्ट्रेस के कारण आप बहुत कमजोर व डल और आपका शरीर भी बहुत थका हुआ महसूस करेगा।

सोने में समस्या (Sleep problems)

यदि आप अपने पार्टनर के साथ सोते हैं तो हो सकता है, उनका साथ आपको रिलेक्स करता हो। लेकिन ऐसा भी सम्भव है कि आपको उनके फोन प्रयोग करने से अच्छा महसूस ना होता हो या आप उनसे किसी और  बात करने में असुरक्षित महसूस करते हो, इस वजह से आपको नींद ही न आए। जो कि आपके स्वास्थ्य को खराब कर सकती है।

चिंता (Anxiety)

यदि आप अपने पार्टनर को लेकर चिंतित हैं कि कहीं वह आप को छोड़ न दे या अन्य किसी बात को लेकर परेशान हैं तो यह चिंता बहुत भयंकर रूप ले सकती है। इससे आपकी सेहत भी प्रभावित हो सकती है। इसलिए आप जिस बात को लेकर चिंतित हैं उस को स्पष्ट कर लें ताकि आप की चिंता खत्म हो जाए। चिंता बहुत सी बीमारियों की जननी है जैसे कि डिप्रेशन, अवसाद, हाई ब्लड प्रेशर, शुगर आदि।

ब्लड प्रेशर का बढ़ना (Hypertension)

यदि आप बहुत अधिक चिंता व डिप्रेशन में हैं तो हो सकता है कि आप ब्लड प्रेशर लेवल भी बढ़ जाए। क्योंकि ब्लड प्रेशर के बढ़ने या घटने में एक इंसान कि डाइट, स्ट्रेस व वह कितना एक्टिव रहता है यह निर्भर करता है। यदि आप कभी खुश नहीं रहते हैं और कभी हेल्दी खाना नहीं खाते हैं, तो हो सकता है आपका ब्लड प्रेशर लेवल बढ़ जाए। जो कि एक चिंता का विषय है।

डिप्रेशन (depression)

यदि आप का रिश्ता असफल है तो आप को डिप्रेशन भी हो सकता है। यदि आप हमेशा अकेला रहना पसंद करते हैं और आपको कुछ भी अच्छा नहीं लगता है तो यह सम्भव है कि आप डिप्रेशन में हैं। इसमें आप को आत्महत्या के विचार भी आ सकते हैं। डिप्रेशन आप की सेहत के लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है। इसलिए यदि आपको लगता है कि आप डिप्रेशन में हैं तो जल्द से जल्द किसी मनोवैज्ञानिक या जिस इंसान पर आप सबसे अधिक भरोसा करते हैं उससे अपनी बातें शेयर कर कोई समाधान निकाल लें।

फील गुड हार्मोन (Feel Good)

यदि आपका रिश्ता सफल है तो आपके सफल रिश्ते का प्रभाव सकारात्मक रूप से आपकी लाइफ को प्रभावित करेगा। आपके शरीर में फीलगुड हार्मोन जो कि आपके शरीर में विभिन्न ग्रंथियों द्वारा उत्पादित रसायन हैं, आपके मूड को सही रखेगा। हमारे शरीर में कुछ हार्मोन सकारात्मक भावनाओं को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए जाने जाते हैं, जिनको फील गुड हार्मोन कहा जाता है। जैसे कि सीरोटोनिन डोपामाइन, ऑक्सीटॉसिन आदि। यदि आप अपने पार्टनर को गले लगाते हैं या उसके साथ एक सुखद सेक्स प्रक्रिया से गुजरते हैं तो आपका स्ट्रेस लेवल और हाइपर टेंशन कम होती हैं।

जब साथी परवाह करे (Attention to health)

यदि आपका पार्टनर आपकी छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख रहा है, चाहे वह आपके स्वास्थ्य से संबंधित हो या आपकी अतिरिक्त देखभाल। आपकी स्वस्थ जीवन शैली की ओर इशारा करता है। आपके और आपके पार्टनर के बीच में आपसी सामंजस्य, प्यार और आपका मजबूत बॉन्ड आप दोनों के ही स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। स्वस्थ रिश्तों में लोग वास्तव में एक-दूसरे का ख्याल रखते हैं। वे इसे एक दायित्व जैसा महसूस करते हैं।